ऐसा देश जहां लोगों के पास घरों से ज्यादा हैं कारें, पत्नी की फोटो लगाते हैं दीवारों पर

दुनिया में तमाम ऐसे अमीर देश हैं, जहां घरों से ज्यादा लोगों के पास कारें हैं। ऐसे ही देशों में ब्रुनेई का नाम भी शामिल है। ज्यादातर अमीर देशों में लोग लग्जरी कारों के साथ अच्छे बंग्ले बनाना पसंद करते हैं। हालांकि ब्रुनेई इसके विपरीत है। यहां लोगों के पास घरों से ज्यादा कारें है। ब्रुनेई में घरों से ज्यादा कारों की संख्या है। इंडोनेशिया के साथ समुद्र के बीच बसा यह देश आज भी राजतंत्र की जीती जागती मिसाल है। ब्रुनेई में आज भी सुल्तान का शासन है। यह एक मुस्लिम देश है। ब्रुनेई के सुल्तान का नाम हस्सानाल बोल्किया है। उन्होंने तीन शादियां की हैं और उनके 12 बच्चे हैं।

सार्वजनिक स्थलों पर शराब पीना प्रतिबंधित
इस देश की एक सबसे अनोखी बात यह है कि यहां लोग अपने घरों की दीवारों पर पत्नी की तस्वीर लगाते हैं। सबसे खास बात यह है कि किसी-किसी घर में तो एक से ज्यादा पत्नियों की तस्वीरें देखने को मिल जाएंगी। दीवारों पर यहां लोग अपने सुल्तान की तस्वीर लगाते हैं। इस देश में सार्वजनिक स्थलों पर शराब पीना प्रतिबंधित है। यहां के लोग सड़कों पर चलते समय कुछ भी खाने को गलत मानते हैं। यहां के लोग ज्यादा फास्ट फूड खाना पसंद नहीं करते। यहां मैकडॉनल्ड्स जैसे रेस्टोरेंट भी इक्का-दुक्का ही देखने को मिलते हैं। इस देश में जितने घर हैं, उससे ज्यादा यहां लोगों के पास कारें हैं। रिपोर्ट के अनुसार, यहां प्रति हजार लोगों के बीच 700 कारें हैं।

तेल की कीमतें बहुत कम
दरअसल, इस देश में कारें अधिक होने का कारण यहां तेल की कीमतें बहुत कम होना हैं। लोगों को परिवहन कर नहीं देना पड़ता है। ब्रुनेई के सुल्तान को दुनिया के सबसे रईस राजाओं में माना जाता है। उनकी सम्पत्ति करीब 1363 अरब रुपए यानी लगभग एक लाख 36 हजार 300 करोड़ रुपए बताई जाती है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper