ऑक्सफर्ड और एस्ट्राजेनेका की कोरोना वैक्सीन को बड़ी सफलता

नई दिल्ली: एस्ट्राजेनेका और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की तरफ से विकसित की जा रही कोरोना वैक्सीन के परीक्षण के बेहद उत्साहपूर्ण नतीजे आ रहे हैं। बड़ी बात यह है कि एस्ट्राजेनेका को यह वैक्सीन विकसित करने में सीरम इंस्टिट्यू ऑफ इंडिया (SII) का भी साथ मिल रहा है। इस देसी कंपनी के सीईओ अदार पूनावाल ने कहा कि कंपनी एक हफ्ते के अंदर इसका क्लीनिकल ट्रायल शुरू करने का लाइसेंस लेने के लिए भारतीय दवा नियामक के पास आवेदन करेगी। सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया दुनिया की सबसे बड़ी टीका निर्माता कंपनी है।

यह अब हर साल 1.5 अरब वैक्सीन डोज तैयार करती है जिनमें पोलियो से लेकर मीजल्स तक के टीके शामिल हैं। ऑक्सफर्ड यूनिवर्सिटी और एस्ट्राजेनेका ने इसी भारतीय कंपनी को अपनी कोविड-19 वैक्सीन बनाने के लिए चुना है। पूणे की इस कंपनी ने पहले कहा था कि वह आखिरी आदेश मिलने से पहले ही वैक्सीन बनाना शुरू कर देगी ताकि जब तक सभी अनुमतियां मिलें तब तक अच्छी-खासी मात्रा में वैक्सीन रेडी हो सके।

एक हफ्ते में लेंगे लाइसेंस का आवेदन
सीईओ अदार पूनावाला ने कहा, ‘परीक्षण के आशाजनक परिणाम आए हैं और हम इसे लेकर बहुत खुश हैं। हम एक हफ्ते में भारतीय रेग्युलेटर के पास लाइसेंस के लिए आवेदन देंगे। अनुमति मिलते ही हम भारत में वैक्सीन का परीक्षण शुरू कर देंगे। इसके साथ ही, हम तुरंत बड़ी मात्रा में वैक्सीन बनाना भी शुरू कर देंगे।’ इसी महीने पूनावाला ने कहा था कि उनकी कंपनी इस वर्ष के आखिर तक कोविड-19 वैक्सीन बनाने की उम्मीद रखती है। उन्होंने कहा कि कंपनी का इरादा जल्दबाजी करने की जगह गुणवत्तापूर्ण और सुरक्षित टीका बनाने का है।

​क्या अब आम लोगों को मिलने लगेगी?
वैक्सीन के इंसानों पर इस पहले ट्रायल में सिर्फ 1077 लोग शामिल हुए थे। अभी तक के नतीजे सकारात्मक जरूर हैं लेकिन इनके आधार पर यह नहीं कहा जा सकता कि अभी इसे आम जनता को दिया जा सकता है। इसके लिए अगले दो चरणों में ब्रिटेन में 10 हजार, अमेरिका में 30 हजार, दक्षिण अफ्रीका में 2 हजार और ब्राजील में 5 हजार लोगों पर टेस्ट किया जाएगा। तीसरे चरण के नतीजे आने के बाद ही यह तय होगा कि इसे लोगों को दिया जा सकता है या नहीं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper