ऑपरेशन ब्लू स्टार की 35वीं बरसी आज, गुरु नगरी में पांच हजार जवान सुरक्षा में तैनात

अमृतसर: आज गुरुवार को ऑपरेशन ब्लू स्टार की 35वीं बरसी है। इसके मद्देनजर स्वर्ण मंदिर के आसपास सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। गुरु नगरी के चप्पे-चप्पे में पुलिस व अर्धसैनिक बलों के जवान आधुनिक हथियारों के साथ चौक के अलावा शहर के भीतरी व तंग बाजारों में तैनात कर दिए गए है। अमृतसर के गांव हर्षा छीना-कुकड़वाला में नाके के पास मिले दो हैंड ग्रेनेड के बाद जिला पुलिस प्रशासन ने ऑपरेशन ब्लू स्टार की 35वीं बरसी में किसी भी संभावित घटना को रोकने के लिए गुरु नगरी को छावनी में तब्दील कर दिया है।

पुलिस कमिश्नर एसएस श्रीवास्तव के अनुसार किसी भी घटना को रोकने के लिए पंजाब पुलिस के साथ-साथ अर्धसैनिक व बीएसएफ के पांच हजार से अधिक जवान मुस्तैद है। श्री दरबार साहिब के आसपास के इलाकों में सीसीटीवी कैमरे स्थापित कर दिया गए हैं। पुलिस अधिकारी इन सीसीटीवी कैमरों से कंट्रोल रूम से गतिविधियों पर पैनी नजर बनाए हुए हैं।

इस दौरान सभी प्रवेश मार्गों में दोपहिया, कार, ट्रकों व अन्य भारी वाहनों की तलाशी भी ली जा रही है। पुलिस ने अमृतसर-जालंधर जीटी रोड में स्थित गोल्डन गेट के नजदीक, तरनतारन रोड, वेरका बाईपास में भारी पुलिस बल तैनात है। खुली जीप में पेट्रोलिंग पार्टियां शहर के सभी प्रमुख गेटों के बाहर खड़ी थी। श्री दुर्गियाणा तीर्थ परिसर, गुरुद्वारा बाबा दीप सिंह जी शहीद व अन्य धार्मिक स्थान के बाहर भी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

ऑपरेशन ब्लू स्टार की 35वीं बरसी का मुख्य कार्यक्रम श्री अकाल तख्त साहिब में होगा। इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए देश-विदेश से संगत पहुंचती है। अलगाववादी नेता सिमरनजीत सिंह मान अपने समर्थकों के कई वर्षों से इस कार्यक्रम में हुल्लड़बाजी कर देश विरोधी नारेबाजी करते आ रहें है। बीते चार वर्षों से समांतर जत्थेदार व उनके समर्थक इस कार्यक्रम में अलग भाषण देकर माहौल को खराब कर रहे है। श्री अकाल तख्त साहिब में किसी भी घटना को रोकने व गुरु मर्यादा भंग न होने को रोकने के लिए एसजीपीसी के टास्क फोर्स के जवान तैनात रहेंगे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper