ओडिशा में सामने आई दुखद घटना, कोरोना से इकलौते बेटे की मौत का दुख सह नहीं पाए मां-बाप- तोड़ा दम

भुवनेश्वर: ओडिशा के गंजम जिला में एक दुखद मामला सामने आया है जहां कोरोना के कारण इकलौते बेटे की मौत के कुछ ही घंटों के बाद उसके माता-पिता के शवों को बरामद किया गया। मामले संबंधित जानकारी देते हुए पुलिस ने कहा कि जिले के कबिसरीनगर पुलिस सीमा के अंतर्गत नारायणपुरससन गांव के राजकिशोर सत्पथी और उनकी पत्नी सुलोचना सतपथी अपने 27 वर्षीय शिक्षक बेटे के भुवनेश्वर के एक अस्पताल में निधन हो जाने के बाद मृत पाए गए।

दंपति के अविवाहित बेटे को गंजाम में क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया था। वह कुछ हफ्तों से कोरोना वायरस से संक्रमित था। युवक को सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। इसके बाद बुधवार को भुवनेश्वर के कोविड-19 अस्पताल में भर्ती कराया गया था। कोरोना के लक्षण दिखने के बाद युवक का कोरोना टेस्ट किया गया था, जिसमें वह मंगलवार को पॉजिटिव पाया गया था। इसके बाद शुक्रवार सुबह अस्पताल में उसकी मृत्यु हो गई।

गंजम जिले में 283 नये मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1850 हो गयी है। इसके बाद खोरदा में 894, कटक में 702, जाजपुर में 540, गजपति में 442, बालासोर में 370 तथा जगतसिंहपुर में 305 लोग संक्रमित हुए हैं। ओडिशा के इन 10 जिलों (गंजम, गजपति, खोरदा, कटक, जाजपुर, जगतसिंहपुर, बालासोर, मयूरभंज, क्योंझर और झारसुगुडा) में 50 से अधिक सक्रिय मामले हैं। इसके अलावा कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए चार अन्य जिलों में भी सप्ताहांत में पूर्णबंदी लागू करने का फैसला किया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper