और इलाहाबाद हो गया प्रयागराज…

दिल्ली ब्यूरो: योगी सरकार फटाफट शहरों का नाम बदलती जा रही है। सामने लोकसभा चुनाव को देखते हुए हिन्दू भावना जगाने के तहत मुगलसराय के बाद अब इलाहबाद का नाम प्रयागराज कर दिया गया है। इलाहाबाद का नाम बदलने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को मंजूरी दे दी है। अब इलाहाबाद प्रयागराज कहलायेगा। प्राचीन ग्रंथों में प्रयागराज की ही चर्चा है। यूपी के राज्यपाल राम नाईक ने भी अपनी सहमति दे दी है।

सीएम योगी ने इसका ऐलान कुंभ मेले के आयोजन से जुड़ी मार्गदर्शक मंडल की पहली बैठक में किया था। बता दें कि इस बैठक में प्रदेश के चीफ जस्टिस डीबी भोंसले के साथ अखाड़ा परिषद और अन्य धार्मिक व सामाजिक संस्थाओं से जुड़े संत एवं गणमान्य लोग भी शामिल हुए थे। हालांकि यह सीएम योगी का बड़ा ऐलान है। सीएम योगी ने कहा कि जल्द ही नाम बदल दिया जाएगा।

इस ऐलान के साथ साथ सियासी गलियारों में आवाजें उठने लगी है। कांग्रेस और समाजवादी पार्टी ने इलाहाबाद के नाम बदलने पर योगी सरकार पर धावा बोला है। कांग्रेस ने कहा कि योगी सरकार सिर्फ नाम बदलने का काम कर रही है। विकास नाम बदलने से नहीं बल्कि काम करने से होगा।

वहीं, कुंभ 2019 की बैठक के बाद सीएम योगी ने प्रेस कॉंफ्रेंस में कहा कि 201 9 इलाहाबाद कुंभ के लिए तैयारी अब तक संतोषजनक रही है। हम इस साल 30 नवंबर तक सभी तैयारियों को पूरी कर लेंगे। मेले की जानकारी देते हुए सीएम योगी ने कहा कि करीब 3200 हेक्टेयर में आयोजित होने वाले मेले में स्वच्छता पर खास ध्यान रखा जाएगा। मेले में 1,22,000 शौचालय और 20,000 कूड़ेदान का निर्माण किया जाएगा। इतने शौचालय के निर्माण से स्वच्छ भारत का संदेश लोगों तक पहुंचाना चाहते हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper