औषधीय गुणों से भरपूर जंगल जलेबी कैंसर को भी देती है मात

अप्रैल-मई जून महीने में जंगलों और कुछ गांव में यह फल दिख जाता है।आदिवासी और ग्रामीण इसे बड़े चाव के साथ इन महीनों में खाया करते हैं। जलेबी की तरह दिखने वाला फल रोग प्रतिरोधक शक्ति बढाने में बेहद कारगर माना जाता है। जंगल जलेबी में बहुत सारे औषधीय गुण पाए जाते हैं, जो सेहत के लिए काफी फायदेमंद होते हैं।

जंगल जलेबी अंदर से सफेद होता है। वहीं, इसका आकार इमली की तरह होता है। कच्ची जलेबी हरे रंग की होती है और पकने पर ये लाल रंग की हो जाती है। इसका स्वाद हल्का सा मीठा होता है। इस फल को अलग-अलग इलाकों में अलग-अलग नाम से जाना जाता है। कई लोग इसे विलायती इमली, मीठी इमली और गंगा जलेबी के नाम से भी जानते हैं।

कोरोनावायरस की वजह से आज के समय में इम्यूनिटी बूस्ट (Immunity Boost) की काफी चर्चा हो रही है। इस बीमारी से बचने के लिए इम्यूनिटी बूस्ट होना बहुत ही जरूरी है। ऐसे में अगर आप अभी गांव में रह रहे हैं और आपके यहां जंगल जलेबी होती है, तो इस फल को नियमित रूप से खाएं। जंगल जलेबी में विटामिन सी की मात्रा अधिक होती है। विटामिन सी एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करता है और हमारे शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है, इसलिए अगर आप जंगल जलेबी का सेवन करते हैं, तो आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होगी।

डायबिटीज रोगियों के लिए जंगल जलेबी काफी फायदेमंद माना जाता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स के गुण पाए जाते हैं, जो हमारे लिए काफी फायदेमंद है। जंगल जलेबी, टाइप 2 डायबिटीज के मरीजों के लिए काफी अच्छा माना जाता है। कई आयुर्वेदिक दवाइयों में भी जंगल जलेबी का इस्तेमाल किया जाता है। बहुत से ऐसे वैद्य हैं, जो डायबिटीज के मरीजों को एक महीने तक नियमित रूप से जंगल जलेबी खाने की सलाद देते हैं।

जंगल जलेबी में एंटी-कैंसर गुण पाए जाते हैं। अगर इसका नियमित रूप से सेवन किया जाए, तो ये शरीर में कैंसर कोशिकाओं को बढ़ने से रोकता है। इसके साथ ही अगर व्यक्ति को कैंसर नहीं है, तो कैंसर की संभावनाओं को भी कम करता है। ऐसा इसलिए, क्योंकि जंगल जलेबी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स कैंसर कोशिकाओं को विकसित होने से रोक देता है।

पाचन शक्ति को बढ़ाने में जंगल जलेबी काफी मददगार है। इसके सेवन से पेट की सेहत अच्छी बनी रहती है। यह फल एक नहीं, बल्कि 100 से भी अधिक बीमारियों के लिए फायदेमंद होता है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper