कंडक्टर ने नहीं लौटाया टिकट का बकाया, एआरएम से की शिकायत

लखनऊ ब्यूरो: बस में सफर के दौरान उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम के कंडक्टर यात्रियों से पूरा किराया तो लेते हैं लेकिन बचे हुए किराये के पैसे वापस करने में आनाकानी करते हैं।

सभी जानते हैं कि कंडक्टर टिकट के पीछे बचा हुआ किराया लिख देते हैं, लेकिन जब सफर खत्म होता है और यात्री बचा हुआ किराया मांगते हैं, तो कंडक्टर किराया वापस करने के बजाय यात्रियों से झगडऩे लगते हैं। ऐसा ही एक मामला शुक्रवार को चारबाग बस अड्डे पर सामने आया।

राप्तीनगर डिपो की एसी जनरथ बस संख्या यूपी 53 टी 8112 से 15 मार्च को गोरखपुर से लखनऊ पहुंचे यात्रियों का बकाया पैसा कंडक्टर ने नहीं लौटाया। यात्री अजय प्रताप सिंह ने चारबाग बस अड्डे के प्रबंधक वीएन तिवारी को अपनी शिकायत दर्ज कराई। यात्री ने बताया कि गोरखपुर से लखनऊ का किराया 441 रुपये है। पांच सौ रुपये दिया था।

कंडक्टर ने बाकी 59 रुपये नहीं लौटाया। बकाया टिकट के पीछे लिख दिया। ऐसे कई यात्री थे जिन्हें बकाया पैसा नहीं मिला। घंटों परेशान होने के बाद राप्तीनगर डिपो की बस के कंडक्टर से मोबाइल पर बात होने पर पैसा वापस करने का आश्वासन लेकर यात्री लौट गए।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper