कब्रिस्तान के तर्ज पर रामलीला मैदान का होगा बाउंड्रीवाल

लखनऊ ब्यूरो। योगी सरकार 2019 के लोकसभा चुनाव को देखते हुए हिन्दुत्व कार्ड खेल रही है। यूपी में पूर्व की अखिलेश सरकार ने मुस्लिम कार्ड खेलते हुए प्रदेश के सभी कब्रिस्तानों की बाउन्ड्रीवाल कराया था, उसी तर्ज पर योगी सरकार प्रदेश के सभी राम लीला मैदानों की भी बाउन्ड्रीवाल कराकर हिन्दुत्व कार्ड खेलने जा रही है।

उल्लेखनीय है कि प्रदेश के कुछ जगहों पर राम लीला मैदान के लिए जमीन अधिकृत हैं और अधिकांश जगहों पर राम लीला के लिए मैदान चिन्हित नही है। वहां पर राम लीला मंचन सरकारी या विवादित स्थलों पर आयोजित किये जा रहे हैं। ऐसें में योगी सरकार के लिए राम लीला मैदान के चिन्हीकरण और उनके सुन्दरीकरण एक चुनौती होगी।

योगी सरकार द्वारा वुधवार को विचार किया कि राम लीला मैदान न केवल हमारे सांस्कृतिक गतिविधियों के केन्द्र है अपितु विश्व विरासत के भी साक्षी है। विश्व विरासत को सरंक्षित करने के लिए तथा नई पीढ़ी मे मानव मूल्य, समाज मूल्य तथा व्यक्ति मूल्यों की स्थापना के लिए राम लीलाओं का सुद्रढीकरण आवश्यक है। इसी कार्य योजना को मूर्तरुप देने के लिए प्रदेश की मैदानी राम लीलाओं का संरक्षण किया जायेगा। जिसके अनुक्रम मे मैदानी राम लीलाओं मे किये गये अतिक्रमण को हटाते हुए उनकी 6-8 फीट चहार दीवारी बनाई जायेगी।

इस चहार दीवारी पर राम कथा से संबंधित सुन्दर एवं कलात्मक चित्रांकन भी कराये जायेगे। राम लीला मैदानों के मुख्य द्वार भी अयोध्या, जनकपुर, चित्रकूट, लंका आदि के नाम से भव्य रुप बनाते हुए उन्हें भी पारम्परिक एवं कलात्मक रुप दिया जायेगा। राम लीला मैदान के भीतर छोटे-छोटे अयोध्या, लंका तथा चित्रकूट आदि मंच भी बनाये जायेेंगे। कलाकारों के लिए ग्रीनरुम आदि की व्यवस्था के साथ ही साथ आम दशज़्कों के लिए सुलभ शैाचालय तथा पेयजल की व्यवस्था भी की जायेगी।

मैदानी राम लीलाओं के संरक्षण के साथ-साथ मंचीय एवं शौकिया राम लीलाओं को भी सहायता प्रदान किये जाने की योजना है, जिसमें वेशभूषा, वाद्ययंत्र पदेज़् आदि खरीदे जाने हेतु एकमुश्त अनुदान दिया जायेगा। संबंधित जिले के जिलाधिकारी की अध्यक्षता मे समिति का गठन किया जा रहा है, जिनकेे द्वारा सुसंगत प्रस्ताव प्राप्त होते ही कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper