कभी आप रूठे तो कभी वो, बिना सॉरी बोले ऐसे मनाए अपने पार्टनर को

प्यार का रिश्ता तब और खुशनुमा हो जाता है, जब इस रिश्ते में दो क्यूट कपल में नोक झोंक हो जाती है। क्योंकी ये ऐसा समय होता है। जिसमें दोनों ही एक दूसरे से बात तो नहीं करते बल्कि उनका ख्याल दोनों के मन में जरूर चलता है। जिससे उनमें एक दूसरे के प्रति प्यार और बढ़ जाता है। ये अक्सर दुनिया के सभी कपल में कभी न कभी देखने को जरूर मिलता है। क्योंकी ये भी एक रिश्ते की कड़ी है, कि वो आपसे रूठे तो कभी आप उनसे रूठे। रूठने औ मनाने का ये सिलसिला और भी ज्याद इन पलों को रोमांटिक बना देता है।

लेकिन ध्यान रखना भी बेहद जरूरी है कि ये नोक झोंक कही रिश्तों में खटास ना पैदा करदें। ऐसे में आपके पार्टनर और आपके बीच किसी बात को लेकर नाराजगी हो गई है। और ऐसे में आपका इगो आपको सॉरी बोलने की इजाजत भी नहीं दे रहा है। लेकिन आप चाहते कि आपका पार्टनर आपको बगैर सॉरी बोले ही माफ करें। तो ऐसे में आज हम आपकों कुछ ऐसे टिप्स बताएंगे जिससे आप आसानी से रूठे हुए पार्टनर को मना सकतेे है।

हर किसी कपल को इस रिश्ते में आने के बाद पार्टनर की हर खुशी जानना बेहद जरूरी है। उसी तरह उन्हे मनाना भी आना चाहिए। क्योकि देखा गया है कि कई बार कुछ झगड़े यूं ही बिना वजह हो जाते हैं, जिन्हें बहुत बार प्यार से ही दूर किया जा सकता है। ऐसे में आप पार्टनर को इस बात का अहसास दिलाये कि वे आपके लिए बहुत ही खास ह। इसके साथ उन्हें उनके पंसदीदा फूल या कोई प्यारा सा सरप्राइज गिफ्ट देकर भी आप मना सकते है।

आपको लगता है कि ऐसे बात नहीं बन रही है तो सबसे आसान तरीका होता है कि हर वक्त जिस तरह वह आपके लिए पंसदिदा खाना बनाती है, उसी तरह आप भी उनके लिए उनका पसंदीदा खाना बनाए। अगर आपका खाना बेकार भी बना होगा तो भी वह उसे प्यार से खा लेगी। इससे नराजगी भी दूर होगी और आपस में प्यार भी बढ़ेगा। ऐसे में आपको लगता है कि खाना बेकार बना था।, और रियल में ही सही नही बना है लेकिन वे चाव से खाना खाते है और तारीफ करते हैं तो समझ जाए आपका रूठा पार्टनर मान गया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper