कम मूल्य की पुस्तकों में समाया है अमूल्य ज्ञान

लखनऊ: बात समझ में आ जाए तो किताबों के चन्द अक्षर, चन्द अल्फाज हमारी समूची जिंदगी बदल देती हैं। धर्म और अध्यात्म का मार्ग प्रशस्त करती हैं बाल संग्रहालय लान चारबाग में चल रहे लखनऊ पुस्तक मेले धर्म और अध्यात्म से जुड़ी ऐसी ही अनेक पुस्तकें हैं। यहां किताबों पर न्यूनतम 10 प्रतिशत छूट है तो कई दुकानों में 60 प्रतिशत तक छूट दी जा रही है। निःशुल्क प्रवेश वाला यह मेला यहां 14 मार्च तक रोज सुबह 11 से रात नौ बजे तक जारी रहेगा।

रामकृष्ण मठ के स्टाल पर रामकृष्ण परमहंस व स्वामी विवेकानन्द के साहित्य में शिकागो वक्तृता किताब केवल पांच रुपये की है तो अनेक किताबें छह, 10, 15 रुपये में हैं। इनके साथ ही प्रेरक कथाएं, प्रेरक प्रसंग और उपनिशद आदि पर किताबें हैं। पहले नम्बर के नवरंग के स्टाल पर मोदी कटआउट डायरी के संग एक इंच की गीता और कई साइज़ों में यह आध्यात्मिक ग्रंथ है। प्रकाशन संस्थान के स्टाल पर बौद्ध दर्शन और राहुल सांकृत्यायन की दर्शन दिग्दर्शन व ऋग्वैदिक आर्य जैसी किताबें हैं। दर्शन पर ऐसी ही कुछ किताबें प्रकाशन विभाग के स्टाल पर भी हैं।

अहमदिया मुस्मिम कम्यूनिटी स्टाल पर हिंदी, उर्दू व अंग्रेजी में अनूदित कुरआन के साथ ही वूमन इन इस्लाम, मिर्जा ताहिर की मजहब के नाम पर खून आदि किताबें हैं। यहां विश्व संकट और शांतिपथ जैसी किताबें पुस्तक प्रेमियों को निःशुल्क दी जा रही हैं। रेशनल थिंकर्स कैसे के स्टाल पर प्रो.बीएन पाण्डेय की इतिहास के साथ यह अन्याय, सैयद हामिद अली के परलोक और उसके प्रमाण, स्वामी लक्ष्मीशंकराचार्य की इस्लाम आदर्श या आतंक जैसी पुस्तकें हैं। धर्म-अध्यात्म से सम्बंधित पुस्तकें अन्य स्टालों पर भी हैं।

मेला गतिविधियों के बारे में निदेशक आकर्ष चंदेल ने बताया कि आप्टिकुम्भ में ग्लूकोमा सप्ताह के तहत 13 मार्च को शाम चार बजे विजन फार लाइफ केअर योर आइज जागरूकता कार्यक्रम में चिकित्सक आंखों के स्वास्थ्य पर चर्चा करेंगे। मेले में आप्टिकुम्भ स्टाल पर सम्पूर्ण नेत्र जांच शिविर में नेत्र परीक्षण हो रहा है।
आज मेले की शुरुआत काव्य समारोह से हुई। जीतेश श्रीवास्तव के संचालन में चल रहे विश्वम महोत्सव में आज नवयुग गल्र्स कालेज की छात्राओं आरुषि आदि ने समूह नृत्य के संग ही अन्य प्रस्तुतिया पेश कीं। अनन्या, निशा, कशिश, कृषिका सोनी, ऋतिका सोनी के साथ ही स्कूल आफ मैनेजमेण्ट एण्ड सांइसेज़ और भातखण्डे संगीत संस्थान के युवाओं ने कार्यक्रम पेश किये। वसुंधरा फाउण्डेशन के कार्यक्रम में योगेश प्रवीन का सम्मान हुआ। संजय मल्होत्रा हमनवां के संयोजन में हुए सम्मान समारोह में शबाहत हुसैन विजेता ने भी विचार व्यक्त किये। इसके अलावा अन्य कार्यक्रमों के बीच आत्मनिर्भर भारत पर परिचर्चा चली। फोटोग्राफर्स क्लब की प्रदर्शनी का उद्घाटन संजय शर्मा व अनीश खान वारसी ने किया।

लखनऊ बुक फेयर 2021 के एसोसिएट्स प्रसार भारती-आकाशवाणी, रेडियोसिटी, मोतीलाल मेमोरियल सोसाइटी, विजय स्टूडियो, ऑर्गेनिक इंडिया, किरण फाउण्डेशन, ज्वाइन हैण्ड्स फाउण्डेशन, ऑरिजिंस, सेफ एक्सप्रेस, विश्वम फाउण्डेशन, जकसन, समाग्रा, स्टार टेक्नोलॉजीज, चोकामोर हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper