करनाल में बाबा रामदेव ने कहा- पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ रहे हैं तो लोग ज्यादा मेहनत करें, अपनी कमाई बढ़ाएं

करनाल: पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से देश की आम जनता पर भारी मार पड़ी है। योग गुरु रामदेव ने इस मामले पर कहा कि लोगों को बढ़ती महंगाई से निपटने के लिए अपनी आय बढ़ानी होगी, जिसके लिए उन्हें कड़ी मेहनत करने की जरूरत है। करनाल में उन्होंने बुधवार को कहा, “मेरे जैसा संन्यासी भी कड़ी मेहनत कर सकता है। आम जनता को इस महंगाई से निपटने के लिए कड़ी मेहनत करनी होगी।”

रामदेव ने कहा कि देश चलाने के लिए उनको टैक्स भी लेना पड़ा रहा है, अगर मैं संन्यासी होकर 18 घंटे काम कर सकता हूं तो लोगों को भी और मेहनत करनी चाहिए। दरअसल, बाबा से उनके पुराने बयान के बारे में पूछा गया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि अगर भारतीय जनता पार्टी ( बीजेपी) सत्ता में आई तो ईंधन की कीमतें कम हो जाएंगी।

पेट्रोल-डीजल के जरिए अब रोज लग रहा महंगाई का करंट
करनाल में एक निजी कार्यक्रम में शामिल होने के लिए रामदेव हेलीकॉप्टर से आए थे। उन्होंने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के काम की भी तारीफ की। मालूम हो कि अब पेट्रोल-डीजल के जरिए अब रोज महंगाई का करंट लग रहा है। गुरुवार को भी पेट्रोल-डीजल ने 80-80 पैसे का झटका दिया है। आज पेट्रोलियम कंपनियों ने ईंधन के नए रेट जारी किए तो जयपुर-अहमदाबाद से पटना और भोपाल से चेन्नई तक पेट्रोल 100 रुपये के पार चला गया। यहां तक कि मुंबई में डीजल भी अब 100 रुपये से अधिक हो गया है। दिल्ली में पेट्रोल की कीमत में 80 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी के बाद 101.81 रुपये प्रति लीटर हो गई है।

10 दिन में दिल्ली में पेट्रोल 6.40 रुपये महंगा हुआ
इस तरह 10 दिन में दिल्ली में पेट्रोल 6.40 रुपये महंगा हुआ है। वहीं, डीजल भी 6 रुपये 40 पैसे तक महंगा हुआ है। अब दिल्ली में एक लीटर पेट्रोल के लिए 101.81 रुपये और डीजल के लिए 93.07 रुपये खर्च करने पड़ेंगे। इससे पहले 21 मार्च को राजधानी में पेट्रोल का दाम 95.41 और डीजल 86.67 रुपये प्रति लीटर था।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper