कर्नाटक के पूर्व राज्यपाल और यूपीए सरकार में कानून मंत्री रहे हंसराज भारद्वाज का निधन

नई दिल्ली: कर्नाटक के पूर्व राज्यपाल और यूपीए सरकार में कानून मंत्री रहे हंसराज भारद्वाज का रविवार की रात निधन हो गया। 82 साल की उम्र में उन्होंने अंतिम सांस ली। वह कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं में गिने जाते थे। पिछले कुछ समय से बीमार चल रहे थे। सोमवार को उनका अंतिम संस्कार दिल्ली के निगम बोध घाट पर किया जाएगा।

पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता हंसराज भारद्वाज के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हवाले से दुख व्यक्त करते हुए पीएमओ ने ट्वीट किया ‘पूर्व मंत्री हंसराज भारद्वाज के निधन से दुखी। दुख की इस घड़ी में मेरे विचार उनके परिवार और शुभचिंतकों के साथ हैं। ओम शांति.’

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कर्नाटक और केरल के पूर्व राज्यपाल और पूर्व केन्द्रीय कानून मंत्री हंसराज भारद्वाज के निधन पर शोक जताया है। लोकसभा अध्यक्ष ने अपने ट्विटर पर शोक प्रकट करते हुए कहा कि भारद्वाज जी का निधन राजनैतिक जगत के लिए एक अपूरणीय क्षति है। ईश्वर हंसराज जी को अपने श्रीचरणों में स्थान प्रदान करें।

भारद्वाज 22 मई 2004 से 28 मई 2009 तक आजादी के बाद सबसे लंबा कार्यकाल चलाने वाले कानून मंत्री रहे हैं। वह 2009 से 2014 तक कर्नाटक के राज्यपाल रहे। 2012-13 तक वह केरल के राज्यपाल भी रहे। इसके अलावा हंसराज भारद्वाज 1982, 1994, 2000 और 2006 में राज्यसभा सदस्य भी रह चुके हैं। कांग्रेस नेता हंसराज भारद्वाज की पहचान सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील के तौर पर भी होती थी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper