कर्नाटक चुनाव: कोल्लेगल में तेज दौड़ रहा हाथी, प्रचार में आ सकती हैं मायावती

चामराजनगर। रेशम उद्योग के लिए प्रसिद्ध कोल्लेगल विधानसभा बहुजन समाज पार्टी का अच्छा खासा प्रभाव है। स्थानीय लोगों के बीच बसपा की पहुंच के कारण इस सीट पर ‘हाथी’ तेज दौड़ रहा है। बहुजन समाज पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एन. महेश यहां से चुनाव लड़ रहे हैं। चामराजा नगर जिले के कोल्लेगल विधानसभा कर्नाटक में बसपा की सबसे मजबूत सीट मानी जाती है। यहां के पार्टी के कार्यकर्ता एन. दिनेश ने बताया कि चुनाव प्रचार के लिए बसपा सुप्रीमो बहन मयावती भी आ सकती हैं।

पिछले चुनाव में कांग्रेस के एस. जायन्ना ने इस सीट से जीत हासिल की थी, उन्हें 47402 वोट मिले थे। शानदार प्रदर्शन करते हुए बसपा दूसरे स्थान पर रही थी। पार्टी के उम्मीदवार एन. महेश को 37209 वोट मिले थे। बीजेपी के नानजुंडा स्वामी को 17224 वोट मिले थे। बीजेपी से बेहतर प्रदर्शन येडडुयरप्प की पार्टी केजीपी ने किया था। पार्टी प्रत्याशी बलराज एस को 32929 वोट मिले थे। इस बार के चुनाव में भी बसपा ने एन. महेश को ही उम्मीदवार बनाया है। कांग्रेस ने मौजूदा विधायक एस. जयन्ना को फिर से मैदान में उतारा है। बीजेपी ने जीएन नानजुंडा स्वामी को पुन: एक बार टिकट दिया है।

कोल्लेगल का समीकरण-

कोल्लेगल विधानसभा सुरक्षित सीट है। 2011 की जनगणना के अनुसार यहां की जनसंख्या 57,14 9 थी। पुरुषों की आबादी का 51 फीसदी और महिलाओं की संख्या 49 फीसदी है। कोलेगाल की औसत साक्षरता दर 69 प्रतिशत है, जिनमें पुरुष साक्षरता 74 फीसद और महिला साक्षरता 64 फीसद है।

उल्लेखनीय है कि कोल्लेगल में कन्नड़ के अलावा तेलुगुभाषी भी हैं। 1956 तक, कोल्लेगल मद्रास प्रेसीडेंसी का हिस्सा था। कोल्लेगाला को ‘सिल्क सिटी’ भी कहा जाता है। यह हाथों से रेशम की साड़ी उद्योग के लिए भी प्रसिद्ध है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper