कर्फ्यू समाप्त होने और शांति स्थापित होने के बाद न्यूयॉर्क सिटी में हजारों ने मार्च किया

नई दिल्ली: पुलिस बर्बरता के खिलाफ हजारों प्रदर्शनकारियों द्वारा अपने मार्च को जारी रखने के साथ ही पुलिस ने रविवार को शहर की सड़कों से अवरोधक हटा लिए ताकि ये प्रदर्शनकारी मैनहट्टन में ट्रंप इंटरनेशनल होटल और टावर पहुंच सकें। हालांकि इस बार रात में कर्फ्यू लगाए जाने का डर नहीं था। मेयर बिल डी ब्लासियो ने रविवार के कार्यक्रम से पहले शहर में रात आठ बजे से लगने वाले कर्फ्यू को हटा लिया।

इससे पहले शनिवार की रात शांतिपूर्ण बीती जहां कोई झड़प नहीं हुई और न ही दुकानों में तोड़फोड़ की गई जबकि उससे पहली रात बड़े पैमाने पर हिंसा हुई थी। डी ब्लासियो ने रविवार सुबह कहा, “मैं हर किसी को शुक्रिया कहना चाहता हूं जिन्होंने शांतिपूर्ण ढंग से अपने विचार व्यक्त किए।” उन्होंने कहा, “मैंने कर्फ्यू समाप्त करने का फैसला किया है। और इमानदारी से कहूं, तो मुझे उम्मीद है कि यह अंतिम बार होगा जब हमें न्यूयॉर्क सिटी में कर्फ्यू लगाने की जरूरत पड़े।”

न्यूयॉर्क में दशकों में पहली बार लगा कर्फ्यू कम से कम रविवार तक प्रभावी रहने वाला था और अधिकारियों की योजना थी कि कोरोना वायरस के मद्देनजर तीन महीने से बंद पड़े शहर को फिर से खोलने के साथ ही कर्फ्यू भी हटा लिया जाएगा। रविवार को भी शहर में शांतिपूर्ण प्रदर्शन जारी रहे जहां हजारों प्रदर्शनकारियों ने मैनहट्टन में मार्च किया और “काले लोगों की जिंदगी मायने रखती है” तथा “जॉर्ज फ्लॉयड” जैसे नारे लगाए।

कर्फ्यू भले ही हटा लिया गया हो लेकिन अधिकारियों ने प्रदर्शनकारियों से कोविड-19 की जांच कराने की अपील की। न्यूयॉर्क के गवर्नर एंड्र्यू क्योमो ने रैली और मार्च में हिस्सा ले रहे लोगों से कहा, “कृपया जांच करवाएं।” उन्होंने कहा कि राज्य प्रदर्शनकारियों को समर्पित 15 परीक्षण केंद्र खोलेगा ताकि उन्हें जल्द इसकी रिपोर्ट प्राप्त हो जाए।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper