कश्मीरी पंडितों के दर्द को हथियार बना रही सरकार -महबूबा मुफ्ती

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कहा कि फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ को आक्रामक तरीके से प्रमोट करने और कश्मीरी पंडितों के दर्द को हथियार बनाने का सरकार का कदम उसके गलत इरादों को स्पष्ट करता है। पीडीपी प्रमुख (PDP chief) महबूबा मुफ्ती ने बुधवार को एक ट्वीट में कहा- जिस तरह से भारत सरकार आक्रामक रूप से कश्मीर फाइल्स को बढ़ावा दे रही है और कश्मीरी पंडितों के दर्द को हथियार बना रही है, उससे उनकी मंशा स्पष्ट होती है। महबूबा मुफ्ती ने सरकार पर दो समुदायों के बीच अनुकूल माहौल न बनाने का भी आरोप लगाया। महबूबा मुफ्ती ने कहा- पुराने घावों को भरने और दो समुदायों के बीच अनुकूल माहौल बनाने के बजाय, वे जानबूझकर उन्हें अलग कर रहे हैं।

पीएम मोदी ने की थी फिल्म की तारीफ
विवेक अग्निहोत्री के निर्देशन में बनी फिल्म, द कश्मीर फाइल्स, 1990 के दशक में घाटी से कश्मीरी पंडितों के नरसंहार और पलायन के इर्द-गिर्द बुनी गई है। फिल्म में कश्मीरी पंडितों के साथ की गई क्रूरता को पर्दे पर बेहद संजीदगी से उतारा गया है। इसमें दिखाया गया है कि कैसे कश्मीर में जिहाद के नाम पर कश्मीरी पंडितों को मार दिया गया, सताया गया और उन्हें रात भर में घर छोड़ने के लिए मजबूर किया गया। फिल्म की रिलीज के बाद इसके निर्माता ने और कलाकारों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की थी, जिसका फोटो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुआ था। पीएम मोदी ने फिल्म की तारीफ भी की थी। इसके बाद फिल्म काे मध्यप्रदेश, गोवा, त्रिपुरा, हरियाणा, गुजरात, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों में टैक्स फ्री कर दिया गया है। कई नेताओं ने द कश्मीर फाइल्स देखने के लिए फ्री टिकट भी ऑफर किए हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper