कांग्रेस विधायक का एक और वीडियो वायरल

भोपाल: एक छात्रा के कारण विवादों में घिरे कांग्रेस विधायक हेमंत कटारे का एक और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें वे खुद को बेकसूर तथा छात्रा और युवक को पेशेवर ब्लैकमेलर बता रहे हैं। वीडियो में वह अपने ऊपर दर्ज ज्यादती और अपहरण की एफआईआर को झूठा बता रहे हैं। उनका कहना है कि उनका कसूर सिर्फ इतना है कि वह विशेष वर्ग से आते और पुलिस के आला अफसरों को शिकायत की थी और ब्लेकमेलिंग की आरोपी छात्रा को रंगे हाथों पकड़ा भी गया।

पूरे घटनाक्रम पर 48 घंटे में छात्रा और विक्रमजीत के खिलाफ सबूत देने की बात कह रहे हैं। वह कह रहे हैं कि छात्रा और विक्रमजीत प्रोफेशनल ब्लैक मेलर है। वीडियो में वे छात्रा की मां के बारे में कहते नजर आ रहे हैं कि उन पर अपहरण आरोप लगाया है। जिसमें वह उनको उनके घर और अलग- अलग स्थानों पर ले जाने की बात कह रही है। जबकि घटना के दिन वह कई किमी दूर थे। इसमें सच यह है कि वह घटना के दिन दो बजे ही प्रसारित हो गया था।

उन्होंने जिक्र किया वह उस वीडियो के बारे में मीडिया पर फोन पर इंटरव्यू दिया, जिस पर उस वीडियो के बारे में मैंने प्रतिक्रिया भी दी। इसके बाद बावजूद मेरे खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली जाती है। यह जानते हुए कि वह पूरी तरह असत्य है।वह भी घटना से पांच से छह दिन बाद छात्रा की मां को याद आता है कि मैंने उनका अपहरण किया है। कटारे वीडियो में वे कह रहे हैं कि वह मीडिया द्वारा मांग करते हैं कि उनके खिलाफ बिना जांच के एफआईआर दर्ज कर ली जाती है। इसलिए डीआईजी भोपाल, टीआई थाना बजरिया और टीआई महिला थाना को तुरंत निलंबित करने की मांग कर रहे हैं।

यदि मप्र की जनता और मीडिया के साथी इस प्रकरण की सत्यता को देखना चाहते हैं। उनको साथ दे। हेमंत कटारे ने मप्र के डीजीपी आरके शुक्ला और विधानसभा के अध्यक्ष से सवाल पूछा रहे हैं कि कि इतने तथ्य रखने के बाद भी डीजीपी और उनके संरक्षक विधानसभा अध्यक्ष सीताशरण शर्मा मौनधारण कर बैठे रहेंगे या सत्यता को उजागर करने के लिए सामने आएगे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper