कांवड़ यात्रा के रास्ते पर नहीं होगी मांस-शराब की बिक्री

नोएडा: कांवड़ यात्रा को लेकर नोएडा प्रशासन ने कमर कस ली है। जिला मजिस्ट्रेट सुहास एलवाई ने अधिकारियों को 14-26 जुलाई तक कांवड़ यात्रा के मार्ग में आने वाली मीट और शराब की सभी दुकानों को बंद करने का आदेश दिया है। कांवड़ यात्रा के मार्गों को अंतिम रूप दिया जा रहा है, जिसके बाद पुलिस इसका निरीक्षण शुरू करेगी।

दरअसल, अधिकारियों ने कांवड़ यात्रा की तैयारियों की समीक्षा को लेकर बैठक की। इसके बाद त्योहारों के दौरान किसी भी तरह की शरारत के प्रयास पर नजर रखने के लिए जिले के विभिन्न हिस्सों में जांच करने का भी निर्णय लिया गया। जिला मजिस्ट्रेट ने पुलिस से यह सुनिश्चित करने को कहा कि चेकिंग अभियान के दौरान किसी भी नागरिक को परेशान नहीं किया जाए।

बैठक के बाद डीएम ने बताया कि पुलिस अधिकारियों और अन्य विभाग प्रमुखों के साथ हुई बैठक के दौरान, उन्हें जिले में परेशानी मुक्त कांवड़ यात्रा सुनिश्चित करने के लिए एक विस्तृत योजना तैयार करने को कहा गया है। मार्गों को अंतिम रूप दिए जाने के बाद, अधिकारी क्षेत्रों का दौरा करेंगे और यात्रा के दौरान जिन मांस और शराब की दुकानों को बंद रखना है उनकी पहचान करेंगे।

वहीं, कांवड़ यात्रा के मद्देनजर डीएम गाजियाबाद ने पूरे जिले को 17 जोन में बांट दिया है. ऋतु सुहास को मोदीनगर के इलाके के जिम्मेदारी दी गई है। जिलाधिकारी ने सिटी मजिस्ट्रेट गंभीर सिंह को विजयनगर और कविनगर क्षेत्र की जिम्मेदारी दी है। एडीएम सिटी विपिन कुमार को शहरी क्षेत्र एडीएम फाइनेस को लोनी का इलाका एडीएम एलए को डासना का क्षेत्र का प्रभारी बनाया गया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper