कानपुर में प्रेमिका के घर लटका मिला प्रेमी का शव

कानपुर। उत्तर प्रदेश के कानपुर के चौबेपुर कस्बे के गजेनपुर गांव में एक युवक का शव उसकी प्रेमिका के घर साड़ी से कुंडे के सहारे लटका मिला। मृतक के परिजनों ने प्रेमिका और उसकी अंधी मां पर हत्या का आरोप लगाकर दोनों को पीट-पीटकर मरणासन्न कर दिया और घर में जमकर तोड़फोड़ की। पुलिस ने प्रेमिका व उसकी मां को अस्पताल में भर्ती कराया है। मृतक के पिता ने प्रेमिका व उसकी मां के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज करायी है। चौबेपुर थाना क्षेत्र के भवानीपुर गांव निवासी वीरेन्द्र कुमार खेती-किसानी करता है। उसका बेटा श्रीकांत उर्फ राजू (21) तीन साल से अपनी ननिहाल बजरहापुरवा में रहकर अपने मामा शंकर के साथ राजमिस्त्री का काम करता था।

ननिहाल में रहने के दौरान राजू के प्रेम सम्बंध पड़ोसी गांव गजेनपुर में रहने वाली रेखा के साथ हो गये थे। रेखा अपनी अंधी मां रमाकांती और छोटे भाई के साथ रहती है। राजू अक्सर प्रेमिका से मिलने उसके घर जाता था और रात में वहीं रुक जाता था।शुक्रवार को गजेनपुर गांव में देवी जागरण था। राजू अपने दोस्तों के साथ जागरण सुनने के लिए गजेनपुर गांव गया था, जहां रात में वह प्रेमिका के साथ उसके घर चला गया। थोड़ी देर बाद उसकी प्रेमिका जागरण में लौट आयी, लेकिन राजू नहीं आया। इस पर उसके दोस्तों ने राजू की तलाश की लेकिन कुछ पता नहीं चला। राजू का पता न चलने पर उसके दोस्तों ने परिजनों को सूचना दे दी। सुबह राजू के पिता वीरेन्द्र व अन्य परिजन गजेनपुर गांव आकर सीधे रेखा के घर जा धमके। वह लोग जब अंदर पहुंचे तो देखा कि कमरे में राजू का शव कुंडे पर साड़ी के सहारे लटक रहा था।

कमरे में चूड़ियां व मोबाइल टूटा पड़ा था और सब्जी बिखरी थी। राजू की बनियान भी फटी थी। यह देख परिजनों ने प्रेमिका रेखा और उसकी मां रमाकांती पर राजू की हत्या का आरोप लगाकर उन्हें पीटना शुरू कर दिया और घर में तोड़फोड़ कर दी। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची।पुलिस ने रेखा और उसकी मां को भीड़ से बचाया, लेकिन तब तक दोनों की हालत काफी बिगड़ चुकी थी। पुलिस ने उन्हें आनन-फानन अस्पताल में भर्ती कराया। पुलिस के साथ पहुंची फॉरेन्सिक टीम ने घटनास्थल का निरीक्षण किया और शव को फंदे से उतारकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। मृतक के पिता वीरेन्द्र ने बताया कि राजू देवी जागरण सुनने के लिए गजेनपुर गांव आया था, जहां रेखा उसे बहाने से अपने घर ले गयी। वहां रेखा ने अपनी मां, भाई और अन्य लोगों के साथ मिलकर राजू की हत्या कर दी और मामले को आत्महत्या का रूप देने के लिए शव को फंदे से लटका दिया।

वीरेन्द्र ने रेखा, उसकी मां, भाई और अन्य के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज करायी है।ग्रामीणों ने बताया कि राजू और रेखा के बीच अक्सर विवाद होता रहता था। रात में भी दोनों के बीच किसी बात पर विवाद हुआ होगा और फिर यह घटना हो गयी। वहीं रेखा का कहना है कि वह रात में अपनी अंधी मां के साथ देवी जागरण सुन रही थी। भोर पहर वह घर पहुंची तो कमरे में राजू का शव लटक रहा था, जिसकी सूचना उसी ने राजू के परिजनों को दी थी। चौबेपुर थानाध्यक्ष उमेश सिंह का कहना है कि राजू का शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। रिपोर्ट आने के बाद ही मौत का सही कारण ज्ञात होगा। फिलहाल मृतक के पिता की तहरीर पर हत्या की रिपोर्ट दर्ज कर ली गयी

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper