कानून-व्यवस्था में फेल योगी सरकार बर्खास्त हो : कांग्रेस

लखनऊ। कांग्रेस नेताओं ने मंगलवार को राज्यपाल राम नाईक से भेंट करके प्रदेश सरकार पर कानून-व्यवस्था के मामले में असफल होने का आरोप लगाते हुए बर्खास्तगी की मांग की है। कांग्रेस विधान परिषद दल के नेता व विधान परिषद सदस्य दीपक सिंह ने नेतृत्व एक प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल से मुलाकात कर प्रदेश में बिगड़ी कानून-व्यवस्था के सम्बन्ध में एक ज्ञापन भी सौंपा।कांग्रेस नेताओं ने कहा कि प्रदेश में जिस प्रकार महिलाओं के खिलाफ उत्पीड़न, सामूहिक बलात्कार, हत्या, लूट एवं दिनदहाड़े डकैती की घटनाएं घटित हो रही है उससे आम जनमानस में भय व्याप्त हो गया है।

कानून-व्यवस्था के प्रति आम जनता में अविास की भावना व्याप्त है। प्रदेश सरकार और पुलिस अपने दायित्वों का निर्वहन करने में पूरी तरह अक्षम साबित हो रही है। मुख्यमंत्री के घर के आगे-पीछे चौराहे पर हत्याएं होती है,बदमाश घंटों बेखौफ होकर डकैती डालते हैं। जेल में हत्या होती है, गोरखपुर में नेशनल हाईवे पर व्यापारी को जला दिया जाता है। शोहदों के डर से बच्चियां स्कूल जाना छोड़ दे रही हैं, अभी हाल ही में राजधानी के सबसे व्यस्ततम 1090 चौराहे पर एक बच्चे की हत्या कर लाश फेंक दी जाती है और ज्यादातर घटनाओं का पुलिस अब तक खुलासा नहीं कर पायी है।

कांग्रेस नेताओं ने कहा कि यदि राजधानी सुरक्षित नहीं है तो प्रदेश के अन्य जनपदों में कानून-व्यवस्था की स्थिति का अंदाजा सहज ही लगाया जा सकता है। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि प्रदेश सरकार अपने दायित्वों का निर्वहन करने में पूरी तरह अक्षम साबित हो रही है, ऐसे में प्रदेश सरकार को अविलम्ब बर्खास्त किया जाए। प्रतिनिधिमंडल में एमएलसी दीपक सिंह के साथ पूर्व मंत्री राजबहादुर, कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री हनुमान त्रिपाठी, अमरनाथ अग्रवाल, जीशान हैदर सहित अन्य नेता शामिल रहे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper