कारण मेहरा से नाम जुड़ते ही हिमांशी पराशर ने की कुछ ऐसी हरकत की खड़े हो जाएंगे निशा रावल के कान !

मुंबई: करण मेहरा और निशाल रावल का मामला खूब तूल पकड़े है. इस मामले में अब एक और मामला जुड़ गया है. ये नाम है हिमांशी पराशर. करण मेहरा की जमानत के बाद निशा रावल ने मीडिया के सामने काफी कुछ कहा है. निशा रावल ने दावा किया था कि करण मेहरा का एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर चल रहा है. निशा रावल के दावों को करण मेहरा ने झूठ करार दिया है, लेकिन अब करण का नाम हिमांशी पराशर से जुड़ रहा है. हिमांशी पराशर पंजाबी शोमावां दी ठंडिया छावां में नजर आ रही हैं

करण मेहरा भीमावां दी ठंडिया छावांका हिस्सा हैं. दोनों ने ही इस शो की शूटिंग के दौरान ली गई कई रोमांटिक तस्वीरों और वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर किया है. अब यही सारे पोस्ट इन दोनों के लिए मुसीबत का सबब बन चुके हैं. करण और हिमांशी के इन पोस्ट पर फैंस खूब ताना मार रहे हैं. यही नहीं लोग करण को उनके बेटे कविश की दुहाई दे रहे हैं.

इन तानों को सुनकर हिमांशी पराशर लगता है परेशान हो गई हैं. मामला बढ़ता देख उन्होंने अपना कमेंट सेक्शन ही बंद कर दिया है. हिमांशी पराशर . ने लोगों के रिएक्शन को देखकर ये फैसला लिया है. वैसे हिमांशी ने अभी तक इस मामले पर कोई बयान नहीं दिया है

निशा रावल (Nisha Rawal) के सभी दावों को करण मेहरा ने गलत बताया है. उनका कहना है कि वो किसी को भी धोखा नहीं दे रहे हैं. करण मेहरा का कहना है कि निशा रावल के दावों में जरा भी सच्चाई नहीं है, बल्कि वो उन्हें फंसा रही हैं. वहीं निशा रावल का कहना है कि करण को कविश की जिम्मेदारी नहीं लेनी है. दूसरी ओर करण का कहना है कि कविश निशा के साथ सेफ नहीं रहेगा.

Source: Zee News

 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper