कार्तिक पूर्णिमा पर अयोध्या में लाखों श्रद्धालुओं ने लगाई डुबकी

लखनऊ: अयोध्या में बीते 10 दिनों से कार्तिक मेला चल रहा है। चौदह कोसी परिक्रमा, पंचकोसी परिक्रमा के संपन्न होने के बाद कार्तिक पूर्णिमा के मौके पर श्रद्धालुओं ने लाखों की संख्‍या में सरयू में डुबकियां लगाईं। सरयू नदी में स्नान करने और रामलला के दर्शन करने से विशेष पुण्य की प्राप्ति होती हैं सरयू के स्नान घाट से प्रमुख मंदिरों की ओर जाने वाले मार्ग श्रद्धालुओं से पटे हैं। दोपहर के बाद मेलार्थियों की भीड़ ने मेला क्षेत्र से अपने घरों को लौटने लगेगी। इसी के साथ ही सप्ताह भर से चल रहा कार्तिक पूर्णिमा मेला भी संपन्न हो गया।

शुक्रवार की भोर से ही श्रद्धालुओं का रेला सरयू के घाटों पर स्नान के लिए जुटने लगा। श्रद्धालुओं ने पावन सरयू में डुबकी लगाई और गोदान की परम्परा का भी निर्वहन बढ़-चढ़ कर किया। इस क्रम के साथ मठ-मंदिरों में श्रद्धालुओं का सैलाब दर्शन-पूजन के लिए जुटता नजर आया। पौराणिक महत्व की पीठ नागेश्वरनाथ में श्रद्धालुओं ने यथा शक्ति तथा भक्ति भाव से भोले बाबा का अभिषेक किया। अधिसंख्य ने तो पावन सलिला के जल से बाबा को जल चढ़ाया। नागेश्वरनाथ को दूध, घृत अथवा शहद से इस विशेष पर्व पर बाबा का अभिषेक किया गया।

नगरी के भगवान राम और हनुमानगढ़ी में हनुमंत लला के दरबार, वैष्णव परंपरा की आस्था के केंद्र में रहने वाला कनक भवन, रामजन्म भूमि आदि मंदिरों पर सुबह से दर्शनार्थियों की लगी है। स्नान-दान व दर्शन पूजन के बाद दूसरी बेला लगने के साथ ही मेलार्थियों की मेला क्षेत्र से घर वापसी का दौर भी शुरू हो जाएगा । रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन यात्रियों की भीड़ जमा है। मेले के अंतिम पर्व को सकुशल निपटाने के लिए मेला प्रशासन ने भी सुरक्षा व अन्य व्यवस्थाओं को लेकर गुरुवार से ही डटे हैं।

स्नान घाटों के साथ प्रमुख मंदिरों व संवेदनशील स्थलों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम रहे। सुरक्षा की दृष्टि से स्नान के बाद नगरी के मंदिरों में दर्शन पूजन के लिए जाने वाले यात्रियों को डोर फ्रेम मेटल डिटेक्टर से गुजारा जा रहा है। यही हाल नागेश्वरनाथ, हनुमानगढ़ी, कनक भवन मंदिरों में भी दर्शन व्यवस्था की है। मेला कंट्रोल रूम में लगे सीसी टीवी कैमरों से भी मेला क्षेत्र की सुरक्षा व्यवस्था पर कड़ी नजर रखी जा रही है। मेला डयूटी में लगे अफसर मेला क्षेत्र में कैंप कर व्यवस्थाओं की मानीटरिंग करने के साथ ही आवश्यक दिशा-निर्देश दे रहे हैं। तीन चरणों में संपन्न हुए इस मेले के दौरान 20 लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने रामनगरी अयोध्या में दर्शन और पूजन के साथ सरयू में स्नान किया।

रामनगरी अयोध्या को सुरक्षा में एटीएस,आरएएफ, सीआरपीएफ, पीएसी, जल पुुलिस को भी लगाया गया है। सुरक्षा के मद्देनजर 7 जोन, 12 सेक्टर,36 सब सेक्टर में विभाजित किया गया। सुरक्षा अतिरक्त एसपी रैंक के अधिकारी देख रहे हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper