काशी में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करेंगे अगवानी

वाराणसी ब्यूरो। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद पदभार ग्रहण करने के बाद पहली बार काशी पुराधिपति बाबा विश्वनाथ की नगरी में 26 मार्च (सोमवार) को आयेंगे। काशी में राष्ट्रपति के स्वागत के लिए खुद सूबे के मुखिया योगी आदित्य नाथ और राज्यपाल राम नाईक मौजूद रहेंगे।

लगभग दो घंटे के काशी प्रवास के दौरान राष्ट्रपति बड़ालालपुर स्थित दीनदयाल हस्तकला संकुल में राज्यपाल राम नाइक की पुस्तक चरैवति का विमोचन करेंगे। इसके बाद कौशल विकास का प्रशिक्षण लेने वाले लाभार्थियों को जॉब लेटर देंगे। इस दौरान भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) की पांच परियोजनाओं का भी शिलान्यास करेंगे।

शनिवार को हस्तकला संकुल में राष्ट्रपति के कार्यक्रम और सुरक्षा को लेकर तैयारियां चलती रही। वहीं राष्ट्रपति की सुरक्षा व्यवस्था को फुलप्रूफ करने के लिए स्पेशल सिक्योरिटी टीम भी शहर में आ गई थी। खुद जिलाधिकारी तैयारियों को लेकर सजग रहे, वहीं कौशल विकास विभाग के निदेशक प्रांजल यादव ने विभागीय अफसरों संग लगातार बैठक कर तैयारियों को लेकर जरूरी निर्देश दिए।

राष्ट्रपति कार्यालय से अफसरों को मिली जानकारी के अनुसार राष्ट्रपति पूर्वाह्न लगभग 11 बजे शहर में पहुंचेंगे। जिला प्रशासन ने राष्ट्रपति के कार्यक्रम की तैयारियां सुरक्षा को लेकर अन्तिम रूप देना शुरू कर दिया है। उधर भाजपा की स्थानीय इकाई भी राष्ट्रपति के भव्य स्वागत में जुटी है। दरअसल राष्ट्रपति यहां कई भाजपा कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों को नाम से जानते हैं उनके साथ आत्मीय लगाव रखते हैं। इसलिए कार्यकर्ता भी राष्ट्रपति के स्वागत के लिए खास तैयारी में जुटे हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper