काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर कार्य अगस्त तक करें पूरा: योगी आदित्यनाथ

वाराणसी: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी परियोजना ‘श्री काशी विश्वनाथ कॉरिडोर’ का कार्य इस साल अगस्त तक पूरा करने का निर्देश अधिकारियों को दिया है। आधिकारिक सूत्रों ने सोमवार को बताया दो दिवसीय दौरे पर रविवार को यहां पहुंचे मुख्यमंत्री दिन में सेवापुरी क्षेत्र में कई कार्यक्रमों में भाग लेने के बाद शाम में सर्किट हाउस में आलाधिकारियों के साथ बैठक कर विकास कार्यों एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा की।

देर रात विभिन्न निर्माणाधीन परियोजनाओं का स्थलीय निरीक्षण किया तथा संबंधित अधिकारियों को तय सीमा में कार्य पूरा करने के निर्देश दिये। मुख्यमंत्री ने श्री कालभैरव मंदिर एवं श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन पूजन के बाद अपने मंत्रिमंडलीय सहयोगी नीलकंठ तिवारी तथा अन्य आला अधिकारियों के साथ निरीक्षण किया।

श्री काशी विश्वनाथ कॉरिडोर की प्रगति का जायजा लेने के बाद उन्होंने अधिकारियों को इस कार्य को अगस्त तक हर हालत में पूरा करने निर्देश दिया। उन्होंने श्री काशी विश्वनाथ मंदिर परिसर से मणिकर्णिका घाट तक पदयात्रा कर इस क्षेत्र में हो रहे कार्यों को देखा। उनके साथ मौजूद मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल ने उन्हें कार्य प्रगति के बारे में विस्तार से अवगत कराया।

श्री योगी ने कबीरचौरा स्थित पिपलानी कटरा के पास हो रहे शाही नाले की सफाई एवं निर्माण कार्य का भी जायजा लिया। मौके पर मौजूद गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई के अधिकारियों को युद्ध स्तर पर कार्य को पूर करने निर्देश दिया। सिटी स्टेशन के पास सड़क निर्माण कार्य का भी मुख्यमंत्री ने औचक निरीक्षण किया।

निरीक्षण के दौरान अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी, जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा सहित कई आला अधिकारी भी मौजूद थे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper