कासगंज के बवालियों पर लगेगा रासुका

कासगंज: पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने कहा कि गणतंत्र दिवस राष्ट्रीय पर्व है और इसे मनाने के लिए किसी की इजाजत की जरूरत नहीं है। कासगंज हिंसा में शामिल लोगों पर रासुका की कार्रवाई की जाएगी। अब तक 112 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। तलाशी में कुछ जगहों से विस्फोटक भी बरामद हुए हैं। उधर कासगंज में दो समुदायों के बीचंिहंसा के बाद इलाके में तनावपूर्ण शांति है। हालात सुधारने के उपायों पर र्चचा के लिए रविवार को शांति समिति की बैठक हुई।

इस बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृतक युवक चंदन के परिजनों को 20 लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की है। जो सोमवार को दिया जाएगा।हालात के मद्देनजर कासगंज में शांति समिति की बैठक आयोजित की गई। आगरा जोन के अपर पुलिस महानिदेशक अजय आनन्द ने बैठक के बाद कहा कि शहर में डर का माहौल नहीं है। पुलिस ने वारदात पर रोक लगाई है और घटनाओं में शामिल किसी भी व्यक्ति को नहीं बख्शा जाएगा।

उन्होंने कहा कि शांति समिति की बैठक में शहर के गणमान्य लोग शामिल थे और बैठक में तय किया गया कि सभी दुकानदार अपनी-अपनी दुकानें खोलेंगे। बैठक में हिस्सा लेने वाले आगरा के मण्डलायुक्त सुभाष चन्द्र शर्मा ने कहा कि बैठक के दौरान सभी पक्षों ने अपना-अपना नजरिया पेश किया और मौजूदा हालात को लेकर अपनी चिंता जाहिर की। प्रशासन ने हरसंभव मदद का आश्वासन दिया। इस बीच, प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कासगंज में हुई घटना को दुखद बताते हुए इसकी निन्दा की। उन्होंने कहा कि जो लोग भी इसके लिए दोषी हैं, उनमें से एक भी व्यक्ति नहीं बख्शा जाएगा।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खुद हालात की समीक्षा की है। अपराधी चाहे जितना बड़ा या प्रभावशाली हो, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। दूसरी तरफ आईजी अलीगढ़- जोन संजीव कुमार गुप्ता ने बताया कि शहर के हालात को पटरी पर लाने के भरसक प्रयास किये जा रहे हैं। हालांकि शहर के नदरई गेट इलाके के बाकनेर पुल के पास एक गुमटी में आग लगा दी गई।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper