कासगंज मामले पर विनय कटियार ने दिया विवादित बयान, कहा- पाक समर्थक ने की चंदन की हत्या

लखनऊ ट्रिब्यून ब्यूरो। गणतंत्र दिवस के दिन कासगंज में हुई सांप्रदायिक हिंसा के बाद से जिले में तनाव की स्थिति बनी हुई है। वहीं सरकार और स्थानीय प्रशासन मौहाल को ठीक करने में लग हुए है। लेकिन इन सभी के बीच नेताओं के बयान भी माहौल को बिगाड़ने का काम कर रहे हैं।

कासगंज हिंसा पर बीजेपी के राज्यसभा सांसद विनय कटियार ने मंगलवार को विवादित बयान देते हुए कहा कि पाक समर्थक लोगों ने चंदन की हत्या की है। उन्होंने कहा, कासगंज में जो कुछ हुआ वह दुखद है। वहां जल्दी से कोई तनाव होता नहीं है। वहां पाकिस्तान परस्त लोग आ गए हैं, जो राष्ट्रीय ध्वज को स्वीकार नहीं कर रहे हैं। वे पाक जिंदाबाद का नारा लगा रहे हैं। इसतरह के लोगों के खिलाफ कार्रवाई होगी।’

पूरे मामले से निपटने को लेकर योगी सरकार की कार्रवाई की सराहना करते हुए कटियार ने कहा, ‘सरकार कड़े कदम उठा रही है। अभी और कड़े कदम उठाने की जरूरत है। सरकार ने एसआईटी का गठन कर दिया। कोई अपराधी बचने नहीं पाएगा। कटियार के साथ ही केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने कहा कि यह घटना बताती है कि राष्ट्रविरोधी तत्व तिरंगा यात्रा को बर्दाश्त नहीं कर सकते। उन्होंने कहा,यूपी सरकार कड़े एक्शन ले रही है।ऐसी घटनाओं को सहन नहीं किया जा सकता। इस मुद्दे का राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए।

इस बीच यूपी बीजेपी के नेता और योगी सरकार में मंत्री सूर्यप्रताप शाही ने सांप्रदायिक दंगे को छोटी घटना करार देते हुए विवादित बयान दिया है। सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि किसी घटना को इतना तूल नहीं दिया जाना चाहिए। यह एक छोटी घटना हुई है,जिसमें दो लोगों के साथ हादसा हुआ है। सरकार गंभीर है और कार्रवाई कर रही है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper