किन्नर को पैसे देते हुए जिसने बोले ये 2 शब्द, उस पर खूब बरसेगी दौलत

हमारे देश में हर त्यौहार बड़े धूम धाम से मनाया जाता है| इन त्योहारों में हर्ष और उल्लाश के साथ साथ एक और चीज़ होती है और वो है दान देने की परम्परा। अगर आपके पास धन की कोई कमी नहीं है तो आप किसी को भी कुछ भी दे सकते है और खुशी का भरपूर आनंद उठा सकते हैं, अन्यथा कुछ अधूरा तो रह ही जाता है। हर किसी की इच्छा होती है कि उसे अपने जीवन में कभी धन की कोई कमी ना हो और इसके लिए वह बहुत मेहनत भी करता है।

जब भी कोई त्यौहार आता हैं हमारा मन तो खुशिओ से झूम उठता है और त्यौहार समाप्ति के बाद बहुत से लोग दक्षिणा मांगने आते है लेकिन इस मामले में किन्नर सबसे आगे रहते है सिर्फ त्यौहार ही नहीं बल्कि यदि किसी के यहाँ शादी होती हैं,या कोई शुभ काम हो या छोटा  बच्चा पैदा होता हैं या नया मकान बनता हैं तो तब भी ये किन्नर वहां तत्काल आ जाते हैं और अपने हिसाब से जश्न मानते है|

ये तो आप जानते ही होंगे की जब भी किन्नर किसी ख़ास मौके पर घर आते हैं तो पैसा लिए बिना वापस नहीं जाते हैं ये उनकी विशेष आदत होती है दूसरी तरफ लोग भी इन्हें पैसा देने में आना कानी नहीं करते हैं और एस अकारण भी चाहिए  कुछ लोग ख़ुशी ख़ुशी इन्हें पैसा दे देते हैं तो वहीँ कुछ मन मारकर पैसा दे देते हैं| दरअसल जब भी किसी किन्नर को पैसे दिए जाते हैं तो वो हम सब को बहुत सी दुआएं देता हैं ऐसा माना जाता हैं कि किन्नर के मुंह से निकली दुआएं बहुत हमारे लिए बहुत ही लाभकारी होती हैं|

इन दुआओं का फल हमें अपने जीवन में बहुत जल्दी देखने को मिलता हैं| लेकिन आपको बता दे की जितनी इनकी दुआएं असरदार होती हैं उतनी ही खतरनाक इनकी बददुआएं भी होती हैं इसलिए इनकी कभी निराश नही करना चाहिए जितना हो सके देना ही चाहिए  बस यही वजह हैं किन्नर के मुंह से निकली बददुआएं कोई नहीं लेना चाहता|

जब भी कभी कोई किन्नर हमसे पैसा मांगने आता हैं तो हमारी यही कोशिश रहती हैं कि जितना जल्दी हो सके उसे पैसे दे दिया जाये ऐसे में जब किन्नर को आप पैसे देते हैं और वो आपके घर से जा रहा होता हैं तो आप उसे कुछ नहीं बोलते हैं लेकिन आपको जान आश्चर्य होगा कि यदि आप इस दौरान यानी कि किन्नर के पैसा लेकर जाने के समय उसे सिर्फ दो जादुई शब्द बोल देंगे तो आपको लाखो का फायदा हो सकता हैं शायद आपको इस बात पर यकींन न हो लेकिन ये बिलकुल सच है अब से जब भी कोई किन्नर आपसे  पैसा लेने आये और जाने लगे तो आपको बस कहना है ‘और आइएगा’.

ये शब्द आपको बहुत मामूली से लगरहा होगा लेकिन ये बिलकुल सच है किन्नर को दिया गया दान बहुत ही शुभ माना जाता हैं ऐसे में जब आप उन्हें और आने का कहते हैं तो उन्हें भी एहसास होता हैं कि आप ने ये दान दिल से दिया हैं ना की मजबूरी से इसलिए वो जाते जाते आप को दिल से दुआएं देते जब कोई किन्नर पुरे दिल से दुआ देता हैं तो वो दुआ बहुत जल्दी रंग लाती हैं|

LiveKhattaMeetha.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper