किराएदार ने पीट-पीटकर मकान मालिक की हत्या की

नई दिल्ली: थाना जहांगीरपुरी इलाके में एक मकान मालिक को पिछले कुछ माह से किराया नहीं देने वाले अपने किराएदार से मकान खाली करने की बात कहना ही उसकी मौत का सबब बन गया। महज इसी बात से गुस्साए उसके किरएदार ने अपने कुछ अन्य साथियों के साथ मिलकर उक्त मकान मालिक की बेरहमी से पीट-पीटकर हत्या कर दी। इतना ही नहीं उन्होंने मृतक के तीनों बेटों को भी घायल कर दिया और मौके से फरार हो गए। घटना के बाद सूचना पर पहुंची पुलिस ने सभी को मौके से उठाकर नजदीकी अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने पतिराम (61) को मृत घोषित कर दिया, जबकि उनके तीनों बेटों का अस्पताल में इलाज किया जा रहा है।

मृतक के परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि इलाके में स्थित ब्लॉक-एच की झुग्गी में सपरिवार रहने वाले पतिराम ने काफी समय पहले ही अपनी झुग्गी को फरीद नामक एक युवक को किराए पर दी थी। उनके परिजनों ने बताया कि कुछ माह से फरीद उन्हें किराया नहीं दे रहा था और कई बार कहने पर भी झुग्गी खाली करने को राजी नहीं था। इसी बीच रविवार को पतिराम का बेटा राजेन्द्र जब किराया लेने पहुंचा तो फरीद ने किराया देने से मना कर दिया और खाली करने की बात पर झगड़ने लगा।

हालांकि बाद में फरीद को मकान खाली करने की बात कहकर वह लौट आया। इसके कुछ देर बाद ही फरीद अपने अन्य साथी मुस्तकीम, मुस्लमीन व अब्दुल के साथ पहुंचा और पतिराम के घर में घुसकर पूरे परिवार को बेरहमी से पीटने लगा। घटना में पतिराम समेत उसके तीनों हरेन्द्र, राजेन्द्र व हरीश घायल हो गए, जिन्हें बाबू जगजीवन राम अस्पताल ले जाया गया, जहां डाक्टरों ने पतिराम को मृत घोषित कर दिया। घटना से गुस्साए स्थानीय लोगों ने पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन किया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper