किशन रेड्डी की टिप्पणी पर दी प्रतिक्रिया, मंत्री असलम शेख ने सलमान खुर्शीद को बताया बेवकूफ

मुंबई: केंद्रीय मंत्री जी किशन रेड्डी की सलमान खुर्शीद की किताब को लेकर की गई टिप्पणी पर महाराष्ट्र के मंत्री असलम शेख ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि लोग नौकरी खो रहे हैं और भूख से मर रहे हैं। पड़ोसी देश हमारी जमीन पर कब्जा कर रहा है। ये ऐसे मुद्दे हैं जिन पर चर्चा करने की जरूरत है न कि किसी बेवकूफी भरे बातों पर।

पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद की किताब ‘सनराइज ओवर अयोध्याः नेशनहुड इन आवर टाइम्स’ में हिंदुओं को लेकर टिप्पणी की गई है। खुर्शीद ने अपनी किताब में हिंदुओं की तुलना चरमपंथी संगठनों आईएस और बोको हराम से की थी।

असलम शेख ने कहा कि “लोग नौकरी खो रहे हैं और भूख से मर रहे हैं। पड़ोसी देश हमारी जमीन पर कब्जा कर रहा है। ये ऐसे मुद्दे हैं जिन पर चर्चा करने की जरूरत है, न कि किसी ‘बेवकूफ’ की टिप्पणी पर।”

केंद्रीय मंत्री जी किशन रेड्डी ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद की किताब के दावों पर टिप्पणी की थी। जी किशन रेड्डी ने कहा था, “कांग्रेस के किसी वरिष्ठ नेता के इस तरह के बयान सराहनीय नहीं हैं। जब तक भारत में हिंदू हैं, यहां धर्मनिरपेक्षता बनी रहेगी। जिस दिन वे अल्पसंख्यक हो जाएंगे, पाकिस्तान, बांग्लादेश की तरह कोई धर्मनिरपेक्षता नहीं होगी।

इसी बीच, खुर्शीद ने उन लोगों पर कटाक्ष किया जिन्होंने उनकी पुस्तक को निशाना बनाया है और कहा कि जिन्होंने टिपण्णी की है उनकी अंग्रेजी में कमजोर हैं, उन्हें इसकी स्पष्टता के लिए अनुवाद करवाना चाहिए, क्योंकि उन्होंने समरूप (सिमीलर) शब्द का इस्तेमाल किया है न कि समान शब्द का।

खुर्शीद ने चुटकी लेते हुए कहा कि “अंग्रेजी में ‘समरूप’ शब्द है जिसका अर्थ उससे मिलता जुलता है। मुझे खेद है कि मैंने अंग्रेजी में लिखा; वे अंग्रेजी में कमजोर लगते हैं, इसका स्पष्टता के लिए अनुवाद करवाना चाहिए।”

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper