किसने दिया दवा व्यवसायी मुकेश मिश्र हत्याकाण्ड को अंजाम?

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में दवा व्यवसायी मुकेश मिश्र (32) हत्याकाण्ड को अंजाम किसने दिया? क्या परिवार के ही किसी शख्स ने हत्या का खाका खींचा था? आखिर मुकेश को मारने की वजह क्या थी? ऐसे तमाम सवालों का अब राजफाश होगा। नाकरे टेस्ट की करीब हफ्ते भर बाद आने से वाली रिपोर्ट से बहुचर्चित हत्याकाण्ड में परदे के पीछे छिपा शख्स बेनकाब होगा। जानकीपुरम पुलिस रिपोर्ट का इंतजार कर रही है।

इंस्पेक्टर जानकीपुरम पीके झा ने बताया कि मंगलवार को वह मृतक की पत्नी सारिका, भाई करुणोश (वादी), भाभी मधु व भतीजे प्रशांत को लेकर विधि विज्ञान प्रयोगशाला पहुंचे। इस दौरान दोनों पक्ष के वकील अशोक सिंह तोमर, धम्रेन्द्र सिंह व लक्ष्मी शरण सिंह भी मौजूद थे। डाक्टरों के पैनल ने चारों का नाकरे, पॉलीग्राफी व ब्रेन मेपिंग टेस्ट किया। इस दौरान चारों से करीब चालीस सवाल पूछे गये। इससे पहले पुलिस सोमवार को ही भांजे सुधांशु का टेस्ट करा चुकी है।

बताते चलें कि बीते 27 जुलाई 2017 को केन्द्रीय विहार कालोनी जानकीपुरम निवासी दवा व्यवसायी मुकेश मिश्र की देर रात घर लौटते वक्त डीपीएस स्कूल के पास ताबड़तोड़ गोलियों से भून दिया गया था। गोली लगने से कार अनियंत्रित होकर डिवाइडर से टकराकर पलट गयी थी। करीब सात दिन बाद मुकेश ने अस्पताल में दम तोड़ दिया था। भाई करुणोश ने अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करायी थी। जांच के दौरान पुलिस ने परिजनों से बात की लेकिन बयान में विरोधाभास मिला।

पुलिस ने घटना स्थल के आसपास के सीसीटीवी कैमरों के फुटेज खंगाले लेकिन कुछ नहीं मिला। पुलिस ने रंजिश, प्रापर्टी समेत सभी बिंदुओं पर पड़ताल की लेकिन परिजनों के सहयोग न करने के चलते जांच नहीं हो पा रही थी। पत्नी सारिका ने खुलासे के लिए सीबीआई जांच की मांग के साथ ही वरिष्ठ अधिकारियों से गुहार की थी। पत्नी व भाई की सहमति मिलने के बाद पुलिस ने कोर्ट में नाकरे टेस्ट के लिए अर्जी दी थी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper