किसानों को भी उम्मीद बंधी, 80 किसान संगठनों की आज होगी बैठक

नई दिल्ली: अब पूरे समाधान के लिए चार जनवरी को आठवें दौर की बैठक तय की गई है. किसानों को भी उम्मीद बंधी है, लेकिन दिल्ली बॉर्डर पर किसान टस से मस नहीं हुए हैं. उनका धरना जारी है. आज किसान आंदोलन का 37वां दिन है. किसान और सरकार के बीच सातवें दौर की बातचीत में पूरा समाधान तो नहीं निकला लेकिन विवाद के दो मुद्दों पर सहमति बन गई. कृषि कानूनों के खिलाफ वो अब भी आवाज बुलंद कर रहे हैं.किसानों के प्रदर्शन के कारण चिल्ला और गाजीपुर बॉर्डर को बंद कर दिया गया है.

इन दोनों रास्ते से दिल्ली से नोएडा और गाजियाबाद की ओर लोग आते-जाते हैं. फिलहाल, हाइवे पूरी तरह से बंद है और लोगों से डीएनडी रूट लेने की सलाह दी जा रही है. आज किसान आंदोलन का 37वां दिन है. सिंघु बॉर्डर पर आज 80 किसान संगठनों की 2 बजे बैठक है. इससे पहले किसान और सरकार के बीच सातवें दौर की बातचीत में पूरा समाधान तो नहीं निकला लेकिन विवाद के दो मुद्दों पर सहमति बन गई. चार जनवरी को आठवें दौर की बैठक तय की गई है. इस बैठक से पहले किसान आगे की रणनीति बनाएंगे.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper