किसान कांग्रेस के पदाधिकारियों ने की बैठक, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने की संगठन की समीक्षा

लखनऊ। किसान कांग्रेस उ.प्र. के प्रदेश पदाधिकारियों की संगठनात्मक समीक्षा बैठक गुरूवार को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में सम्पन्न हुई। बैठक में अखिल भारतीय किसान कांग्रेस के उपाध्यक्ष श्याम पाण्डेय मौजूद रहे। इसके अलावा किसान कांग्रेस के मध्य जोन के अध्यक्ष तरूण पटेल, पूर्वी जोन के अध्यक्ष सुयश मणि त्रिपाठी, बुन्देलखण्ड जोन के अध्यक्ष शिव नारायण परिहार सहित सभी जोनों के प्रदेश पदाधिकारी मौजूद रहे।

बैठक में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्याम पाण्डेय ने संगठन को तहसील, ब्लाक एवं पंचायत स्तर तक पहुंचाने के निर्देश दिये एवं अभी तक प्रदेश एवं जिला किसान कांग्रेस के संगठन की समीक्षा भी की। इसके साथ ही किसान कांग्रेस द्वारा चलाये गये कार्यक्रमों की जानकारी प्राप्त की। उ0प्र0 किसान कांग्रेस दिल्ली में चल रहे तीन काले कृषि कानूनों के खिलाफ आन्दोलन में किसान कांग्रेस की भूमिका पर विस्तार से चर्चा की गयी।

बैठक को सम्बोधित करते हुए किसान कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्याम पाण्डेय ने कहा कि तीन काले कृषि कानून किसानों को भविष्य में उनके खेतों में ही बंधुआ मजदूर बनायेंगे। जिससे अन्नदाता के गौरव को ठेस पहुंचेगी। उ0प्र0 में आवारा पशुओं की गंभीर समस्या पर भी प्रकाश डाला। उन्होने कहा कि उ0प्र0 में कहीं गौशालाएं हैं तो उनमें भूसा नहीं, चारा नहीं, जिससे गौ माताएं जीर्ण-शीर्ण होकर काल के गाल में समां रही हैं। इसके लिए किसान कांग्रेस को आवारा पशुओं से किसानों को होने वाली समस्याओं को लेकर गांव-गांव जाकर आवाज उठायेगी।

बैठक में प्रमुख रूप से किसान कांग्रेस के राष्ट्रीय कोआर्डिनेटर राम सुधार मिश्रा, डा0 आरसी पाण्डेय, रमा शंकर द्विवेदी, ज्वाइन्ट कोआर्डिनेटर राहुल दुबे सहित प्रदेश भर के किसान कांग्रेस के पदाधिकारी मौजूद रहे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper