कृषि कुम्भ २६ से २८ तक, देश-विदेश के किसानों का होगा जमावड़ा

लखनऊ ब्यूरो। कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने गुरुवार को पत्रकारो को बताया कि प्रदेश की अर्थव्यवस्था का मुख्य आधार कृषि है। कृषि एवं संबंधित क्षेत्र न केवल जीवन यापन का साधन मुहैया कराते हैं बल्कि प्रदेश की 67.६८ फीसदी आबादी के भी रोजगार का साधन है। कृषि का प्रदेश की जीडीपी में 25.5 फ़ीसदी योगदान है तथा राष्ट्रीय स्तर पर 14 फ़ीसदी है।

प्रदेश की अर्थव्यवस्था में कृषि को महत्ता देते हुए भारत सरकार एवं प्रदेश सरकार द्वारा सन 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के लिए संकल्पित है। इसी परिपेक्ष में उत्तर प्रदेश में पहली बार कृषि कुम्भ-2018 का आयोजन 26, 27 एवं 28 अक्टूबर को भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान, तेलीबाग, लखनऊ के परिसर में किया जा रहा है जिसमें अन्तर्राष्ट्रीय कृषि सम्मेलन,वृहद किसान मेले का आयोजन सम्मिलित है जिसमें प्रदेश के 75 जनपदों के 1.00 लाख से अधिक किसान कृषि , छात्र, कृषि क्षेत्र में कार्य करने वाले उद्यमी, अधिकारी एवं नीति नियामक आदि भाग ले रहे हैं।

कृशि कुम्भ का उदघाटन 26 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से किया जायेगा जिसमें प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एवं भारत सरकार के कृषि मंत्री राधामोहन सिंह, केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्री कृष्णा राज, डा.प्रेम कुमार, कृषि मंत्री, बिहार, डा. सुबोध उनियाल, कृषि मंत्री, उत्तराखण्ड तथा प्रदेश के पशुपालन, उद्यान, दुग्ध विकास सहित कृषि से जुड़े अन्य विभागों के मंत्रीगण, राज्य मंत्रीगण सहभागी होंगे। कृषि कुम्भ में कृषि क्षेत्र में तकनीकी दृश्टि से काफी विकसित विश्व के 02 देश जापान एवं इजराइल सहयोगी देश के रूप में भाग ले रहे हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper