केंद्र सरकार अयोध्या में बनाएगी एक नया परिक्रमा मार्ग

अयोध्या ब्यूरो। रामनगरी की भौगोलिक सीमाओं को विस्तार देने के लिए केंद्र की मोदी सरकार एक नया प्रोजेक्ट को अयोध्या लेकर आई है। केंद्र सरकार की योजना अयोध्या के इर्द-गिर्द एक फोर लेन राजमार्ग बनाने की है। भले ही परिक्रमा मार्ग की भौगोलिक शक्ल हो, लेकिन यह धार्मिक नहीं होगा। यह महज वाहनों के आवागमन के लिए इस्तेमाल किया जाएगा। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी 8 फरवरी शुक्रवार को इसकी आधारशिला रखेंगे।

पड़ोसी जनपद गोंडा को अयोध्या से जोड़ने के लिए अभी पुराने पुल के साथ सरयू फोरलेन के रास्ते कटरा मार्ग का इस्तेमाल होता है। जनपद गोंडा के तरबगंज, नवाबगंज व परसपुर को जोड़ने के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग 28 पर जिला मुख्यालय अयोध्या से चंद किमी की दूरी पर सरयू नदी के ढेमवाघाट पर पक्का पुल बनकर तैयार है। सरकार की नई योजना से ढेमवाघाट को नदी उस पार तुलसीपुर से जोड़ने के लिए सम्पर्क मार्ग बनाया जाएगा।

केंद्र सरकार रिंग रोड के बहाने चारो हाईवे को आपस में जोड़ने की योजना पर काम कर रही है। जिला मुख्यालय के रास्ते गुजरने वाले तीनों राष्ट्रीय राजमार्गों प्रयागराज-अयोध्या, लखनऊ-अयोध्या तथा रायबरेली-अयोध्या, अम्बेडकरनगर -अयोध्या को प्रस्तावित रिंग रोड से जोड़ दिया जाएगा। रिंग रोड के रास्ते चारों राजमार्गों से आने वाले वाहन बिना शहर की सीमा में घुसे बस्ती-गोरखपुर व गोंडा-बलरामपुर मार्ग पर चले जाएंगे। प्रस्तावित रिंग रोड ढेमवाघाट पुल को जोड़ते हुए रानी बाजार, मसौधा के राणी सती मंदिर होते हुए सरयू पुल के रास्ते पड़ोसी जनपद में प्रवेश करेगा और नवाबगंज, तुलसीपुर के रास्ते सरयू के उस छोर पर ढेमवाघाट पुल पर मिल जाएगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper