केंद्र सरकार की इन 3 स्कीम का उठाइये लाभ, सिर्फ 400 रुपये में परिवार का भविष्य कर सकते हैं सुरक्षित

नई दिल्ली: वैसे तो केंद्र सरकार ने अलग-अलग क्षेत्र या वर्ग के लिए कई स्कीम शुरू की है। इसमें सरकार की कुछ ऐसी स्कीम्स हैं जो मामूली निवेश पर भी भविष्य सुरक्षित करती है। इसी से जुडी आज हम आपको ऐसी ही 3 स्कीम के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनका आप फायदा उठा सकते हैं। इन स्कीम्स में आपको 400 रुपये से भी कम के निवेश की जरूरत है।

जीवन ज्योति बीमा

साल 2015 में मई के महीने में शुरू की गई प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना सरकार का एक टर्म इंश्‍योरेंस प्लान है। इसके मुताबिक पॉलिसीधारक की मौत होने पर ही बीमा कंपनी इंश्योरेंस की रकम का भुगतान करती है। अगर पॉलिसीधारक जीवन ज्योति बीमा योजना का समय पूरा होने के बाद भी ठीक-ठाक रहता है तो उसे कोई लाभ नहीं मिलता। बताया जा रहा है कि जीवन ज्योति बीमा पॉलिसी की मैच्योरिटी की उम्र 55 साल है। इसमें अश्योर्ड अमाउंट यानी बीमा की रकम 2,00,000 रुपये है। प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना के लिए सालाना प्रीमियम 330 रुपये है। यह योजना 18 -50 साल की उम्र का कोई भी भारतीय नागरिक ले सकता है।

12 रुपये की योजना

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना में सालाना सिर्फ 12 रुपये कटते हैं। जानकारी के मुताबिक बीमा योजना का लाभ उन्‍हें ही मिलेगा जिनकी 18-70 साल तक की उम्र है। बीमा खरीदने वाले ग्राहक की एक्सीडेंट में मृत्यु होने पर या विकलांग होने की स्थिति में 2 लाख रुपये की रकम उसके आश्रित को दी जाती है। दोनों बीमा स्‍कीम के बारे में अधिक जानकारी के लिए https://jansuraksha.gov.in/ पर पढ़ सकते हैं।

अटल पेंशन योजना

सुरक्षित भविष्य के लिए मोदी सरकार की अटल पेंशन योजना (APY) सबसे चर्चित है। इसमें अभी से मामूली निवेश कर आप बुढ़ापे के लिए एक निश्चित पेंशन का इंतजाम कर सकते हैं। इस उम्र में निवेश की शुरुआती रकम 42 रुपये है। योजना के फायदा 60 साल की उम्र होने के बाद आजीवन एक निश्चित राशि पेंशन के तौर पर मिलेगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper