केक की मिठास से ख़त्म हुई कलह की खटास

इटावा: उत्तर प्रदेश के इटावा में एक निजी होटल में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव रामगोपाल यादव का 72वां जन्मदिन समाजवादी कार्यकर्ताओं ने बड़ी धूमधाम से मनाया,जिसमें उनसे लंबे समय से नाराज चल रहे चचेरे भाई शिवपाल सिंह यादव ने भी हिस्सा लिया। लंबे समय की पारिवारिक कलह के बाद शिवपाल सिंह यादव ने रामगोपाल यादव के पैर छूकर आशीर्वाद लिया और फिर दोनों ने एक साथ केक काटकर एक दूसरे को खिलाया और पार्टी कार्यकर्ताओं को एकजुटता का संदेश दिया।

जन्मदिन के केक की मिठास से कलह की खटास कम होती दिखाई दी। हालांकि रामगोपाल के जन्मदिन का कार्यक्रम फिरोजाबाद के शिकोहाबाद में होना था लेकिन बीती शाम को अचानक शिवपाल यादव ने जन्मदिन को पहले इटावा में बाद में शिकोहाबाद में मनाने का निर्णय लिया। शिवपाल यादव के द्वारा उठाये गए इस कदम से उनके समर्थक काफी हैरान दिखाई दिये,लेकिन शिवपाल यादव ने आगामी लोकसभा चुनाव में पार्टी को मजबूत करने के लिए पहले परिवार की लड़ाई को इस जन्मदिन के अवसर पर खत्म करने का निर्णय लिया।

पत्रकारों से बात करते हुए शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि हमारा पूरा परिवार एक है। प्रदेश की योगी आ​दित्यनाथ सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रदेश में इस समय अघोषित इमरजेंसी जैसे हालात हैं और पूरे प्रदेश में भृष्टाचार चरम पर है। बाबू से लेकर अधिकारी सभी लोग भृष्टाचार में लिप्त है समाजवादी सोच के लोगों, धर्मनिर्पेक्ष और सेक्युलर लोगों को एक साथ मिलकर इस सरकार की अघोषित इमरजेंसी के खिलाफ लड़ना पड़ेगा। गठबंधन के भविष्य के लिए पार्टी का राष्ट्रीय नेतृत्व निर्णय लेगा ।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper