केजीएमयू के डॉ. सूर्यकान्त एलर्जी अस्थमा ‘संस्था’ के राष्ट्रीय अध्यक्ष निर्वाचित

लखनऊ ब्यूरो। किंग जार्ज चिकित्सा विश्व विद्यालय के रेस्पिरेटरी मेडिसिन विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. सूर्यकान्त एलर्जी अस्थमा से सम्बंधित सबसे बड़ी संस्था “इण्डियन कालेज ऑफ एलर्जी अस्थमा एण्ड एप्लाइड इम्यूनोलोजी” के राष्ट्रीय अध्यक्ष निर्वाचित हुए हैं।

देश के सभी एलर्जी एवं अस्थमा विशेषज्ञ, जैसे नाक, कान व गला रोग विशेषज्ञ, त्वचा रोग विषेषज्ञ, चेस्ट रोग विशेषज्ञ तथा इससे सम्बन्धित वैज्ञानिकों की इस राष्ट्रीय संस्था ने डॉ. सूर्यकान्त को निर्विरोध रूप से अपना अध्यक्ष चुना है।

डॉ. सूर्यकान्त पूर्व में इण्डियन चेस्ट सोसाइटी व इण्डियन सांइस कांग्रेस (विज्ञान प्रभाग) के राष्ट्रीय अध्यक्ष रह चुके हैं। इसमे साथ ही हाल ही में डॉ. सूर्यकान्त नेशनल कालेज ऑफ चेस्ट फिजीशियन्स (इण्डिया) के राष्ट्रीय अध्यक्ष निर्वाचित हुए हैं।

इसके अतिरिक्त वर्तमान में टीबी एसोसिएशन ऑफ इण्डिया, इंडियन सोसाइटी फाॅर स्टडी आफ लंग कैंसर, राष्ट्रीय क्षय नियंत्रण कार्यक्रम, इण्डियन मेडिकल एसोसिएशन आदि संस्थाओं की प्रदेश एवं राष्ट्रीय कार्यकारणी के प्रमुख सदस्य हैं।

डॉ. सूर्यकान्त ने अस्थमा पर कई पुस्तकें भी लिखी हैं। उन्होंने एलर्जी व अस्थमा के क्षेत्र में कई शोध पत्र अंतरराष्ट्रीय एवं राष्ट्रीय पत्रिकाओं में प्रकाशित किये हैं। एलर्जी, अस्थमा व पर्यावरण के क्षेत्रों की कई फैलोशिप व सम्मान भी डॉ. सूर्यकान्त को प्राप्त हो चुके हैं।

डॉ. सूर्यकान्त एलर्जी व अस्थमा से सम्बंधित कई स्वयंसेवी संस्थाओं के माध्यम से समाज में इन रोगों के प्रति जागरूक करने, निःशुल्क कैम्प लगाने व इलेक्ट्राॅनिक व प्रिंट मीडिया के माध्यम से चेतना फैलाने का कार्य कर रहे हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper