केन्द्र एवं प्रदेश के अधिकारियों ने केंचुआ प्रजनन प्रयोगशाला आई वी आर आई का भ्रमण किया

बरेली: जय गोपाल वर्मीकल्चर तकनीकी प्रदर्शन तथा केंचुआ प्रजनन प्रयोगशाला का भ्रमण श्री अनुज कुमार झा, निदेशक, पंचायती राज विभाग उ.प्र. सरकार, स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण तथा बरेली मंडल के सभी जिलों के मुख्य विकास अधिकारीयों और श्री एस. एन. सिंह, उपनिदेशक, पंचायती राज एवं नोडल अधिकारी (एस.वी.एम.जी) लखनऊ, बरेली मंडल के सभी जिलों के जिला पंचायत अधिकारियों के साथ भा.कृ.अनु.प.-भारतीय पशु चिकित्सा अनुसधान संस्थान, इज्जतनगर में किया।

इस परियोजना के प्रधान अन्वेषक डा. रणवीर सिंह सभी अधिकारियों को ‘‘जय गोपाल‘‘ केंचुआ की स्वदेशी प्रजाति की विशेषतायें एवं चयन प्रजनन विधि के द्वारा कैसे 25 पीढ़ीयों में विकसित करें के बारे में विस्तार से बताया। गोबर एवं जैविक कचरे से 60 दिन में केंचुआ खाद बनाने की गर्मी एवं जाड़े के मौसम में पैकेज आफ प्रेक्टिसेज एवं जय गोपाल केंचुआ से निर्मित वर्मीकास्ट का प्राकृतिक खेती के लिये जीवांमृत बनाने का तरीका भी बताया।

परियोजना का भ्रमण करने बाद श्री अनुज कुमार झा, निदेषक, पंचायती राज उ0 प्र0 सरकार ने बरेली मंडल के सभी मुख्य विकास अधिकारीयों और पंचायती राज अधिकारीयों को निर्देश दिये की वह सभी अपने जिले के प्रत्येक गॉवों में ग्राम पंचायत के प्रधान के माध्यम से गॉव के जैविक कचरे के निस्तारण के लिये केंचुआ जैविक खाद बनाने के लिये आई.वी.आर.आई. द्वारा विकसित जय गोपाल वर्मीकल्चर तकनीकी को अपनाये तथा प्राकृतिक खेती के लिय भी विकसित तरीके को भी अपनायें जिससे ग्रामीण क्षेत्र में रोजगार के अवसर उपलब्ध होगें तथा जैविक खाद लगाने से जम़ीन का स्वस्थ भी सुधरेगा।

बरेली जिले के मुख्य विकास अधिकारी श्री जग प्रवेश ने कहा कि प्रथम चरण में फार्मर फर्स्ट परियोजना के अन्तर्गत मझगवॉ और आलमपुर जफराबाद विकास खण्ड के गोद लिये गये 20 गॉवों में स्वचछ भारत अभियान ग्रामीण तथा पंचायती राज विभाग के द्वारा कार्यान्वित किया जायेगा। सभी उच्च अधिकारीयों ने आई.वी.आर.आई के जैविक कचरे के वैज्ञानिक एवं जैविक खेती/प्राकृतिक खेती के लिये किये गये प्रयासो की सराहना की।

बरेली से ए सी सक्सेना ।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper