केरल में जल प्रलय, मदद के लिए एक हुआ देश

दिल्ली ब्यूरो: केरल की हालात बेहद ख़राब हैं। बाढ़ और वर्षा से केरल तबाही के कगार पर पहुँच गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बाढ़ की प्राकृतिक आपदा से जूझ रहे केरल को 500 करोड़ रूपये की अंतरिम राहत देने की घोषणा की है। मोदी ने शनिवार को केरल में बाढग़्रस्त इलाकों का दौरा किया। उन्होंने बाढ़ के कारण हुई असामयिक मौतों और संपत्तियों के नुकसान पर गहरा दुख जताया। खबर के मुताविक अब तक यहां 400 से ज्यादा लोगों की जाने चली गयी है जबकि अरबो की संपत्ति नष्ट हुयी है। पूरा केरल मानो जलप्रलय का शिकार हो गया है। राज्य के विभन्न हिस्सों में आज सुबह से बारिश शुरू हो गई है जिससे बचाव एवं राहत कार्य में रूकावट होने की चिंता पैदा हो गई है। चेंगन्नूर, चलाकुडी, त्रिशुर और एर्नाकुलम जिला का विभिन्न हिस्सा बाढ़ से बेहद प्रभावित है। मुख्यमंत्री विजयन ने कहा कि पिछले चार दिन से फंसे कुछ दूरदराज इलाकों में बाढ़ मे लोगों को बाहर निकालने का एक मात्र विकल्प हेलीकॉप्टर ही है। राज्य सरकार ने और अधिक हेलीकॉप्टर की मांग की है। चेंगन्नूर के विधायक साजी चेरियन ने कहा कि हजारों लोग खाने-पीने की चीजों के बिना घरों में फंसे हुए हैं और अगर इनकी जिंदगियों को बचाने के लिए तत्काल कदम नहीं उठाया गया तो इनकी जान को खतरा हो सकता है।

इसी बीच केरल को बचाने के लिए पूरा देश एक होकर इस प्राकृतिक आपदा का सामना करने के लिए आगे बढ़ा है। तमिलनाडु सरकार ने केरल में बाढ़ और भूस्खलन प्रभावितों के लिए पांच करोड़ रुपये की अतिरिक्त सहायता देने और विभिन्न प्रकार की राहत सामग्री भेजने की घोषणा की। इसके अलावा पड़ोसी राज्य के लिए कई करोड़ रुपये की राहत सामग्री भेजना भी सुनिश्चित किया गया है। बाढ़ पीड़ितों के लिए 500 टन चावल, 300 टन दूध पावडर, 15 हजार लीटर दूध, धोती, लुंगी, 10 हजार चादरें और मेडिकल एवं पशु चिकित्सकों के दल के साथ दवाइयां भेजी जायेंगी।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने केरल बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष से आज 10 करोड़ रुपये का अंशदान किया। कुमार ने केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन को लिखे पत्र में कहा कि लगातार बारिश के कारण केरल में आई भीषण बाढ़ में हताहत हुये लोगों और उनकी नष्ट हुई संपत्ति तथा बड़े पैमाने पर हुये नुकसान को लेकर उन्हें गहरा दुख है। उन्होंने कहा कि मैं केरल के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में राहत एवं पुनर्वास कार्य में मदद के रूप में बिहार मुख्यमंत्री राहत कोष से आपको 10 करोड़ रुपये का अंशदान भेज रहा हूं। झारखण्ड की रघुबर सरकार ने भी पांच करोड़ की मदद की है।

वहीँ आम आदमी पार्टी के सभी सांसद, विधायक और मंत्री केरल में बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए एक महीने का वेतन देंगे। दिल्ली के मुख्यमंत्री और ‘आप’ के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कल सरकार की तरफ से 10 करोड़ रुपये केरल में राहत कार्य के लिए देने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने एक ट्वीट में आज कहा कि आप के सभी विधायक, सांसद और मंत्री केरल के लिए एक महीने का वेतन दे रहे है। उन्होंने जनता से आपदाग्रस्त राज्य की मदद करने की अपील की। हरियाणा सरकार ने भारी बारिश और बाढ़ से प्रभावित केरल के लिये दस करोड़ रूपये की सहायता राशि देने की घोषणा की है। राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने आज यहां ट्वीट कर यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि संकट की इस घड़ी में हरियाणा केरल के साथ खड़ा है।

देश की अग्रणी वाहन कंपनी टाटा मोटर्स केरल में बाढ़ में फंसी कंपनी की कारों और यूटिलिटी वाहनों को निकालने की निशुल्क सुविधा प्रदान करेगी। कंपनी ने बताया कि केरल में ग्राहकों को एसएमस के जरिये इस दौरान वाहनों में बरती जाने वाली सावधानियों की जानकारी दे दी है। बाढ़ में फंसा कंपनी का कोई भी ग्राहक टाटा मोटर्स के टॉल फ्री नंबर 1802097979 पर कॉल कर सकता है। कंपनी उनके वाहन को टाटा मोटर्स के अधिक़त वर्कशॉप पर निशुल्क लायेगी।

केरल में भयावह बाढ़ से हुए जानमाल के भारी नुकसान को देखते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने फैसला किया है कि पार्टी के सभी सांसद, विधायक और विधान परिषद सदस्य एक महीने का वेतन राज्य के बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए देंगे। पंजाब की सरकार ने 10 करोड़ रुपये दिए हैं। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने केरल में भीषण बाढ़ के बाद हुई भारी तबाही को लेकर दुख जताया है। संयुक्त राष्ट्र महासचिव के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने कहा कि हमारे मानवीय सहयोगियों के साथ-साथ भारत में हमारा दल हाल ही में आई बाढ़ पर निकटता से नजर बनाए हुए है। संयुक्त राष्ट्र निश्चित तौर पर भारत में बाढ़ के कारण हुए जान-माल के नुकसान और विस्थापन को लेकर दुखी है।

ओडिशा सरकार ने केरल में बाढ़ ग्रस्त ओदपल्ली में फंसे 130 मजदूरों की मदद की गुहार लगाई है। राज्य के विशेष राहत आयुक्त (एसआरसी) बी पी सेठी ने केरल के अतिरिक्त मुख्य सचिव पी एच कुरियन को एक पत्र लिख कहा कि मैं, आप से ओडिशा के बाढ़ प्रभावित लोगों को भोजन, पानी और अन्य आवश्यक वस्तुएं मुहैया कराने के लिए उचित व्यवस्था करने का अनुरोध करता हूं। ओडिशा सरकार ने प्रभावित लोगों की मदद के लिए यहां विशेष राहत आयुक्त कार्यालय में हेल्पलाइन भी शुरू की है।

उधर ,तेलंगाना सरकार ने बाढ़ की आपदा से जूझ रहे केरल को 25 करोड़ रूपये की वित्तीय सहायता दिये जाने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने राज्य के मुख्य सचिव एस के जोशी को यह राशि तत्काल केरल पहुंचाये जाने के निर्देश दिये हैं। इसके साथ ही उन्होंने वहां पेयजल की संकट के मद्देनजर 2.50 करोड़ रूपये मूल्य की आर ओ मशीनें भी भिजवाने के निर्देश दिये हैं। राव ने राज्य के उद्योगपतियों, आईटी कंपनियों, बड़े व्यावसायियों और अन्य लोगों से उदारतापूर्वक दान के लिए आगे आने की अपील की है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper