केशरी नाथ त्रिपाठी में कभी नहीं पैदा हुआ पद व कद का अहंकारः राजनाथ

प्रयागराज ब्यूरो। बहुमुखी प्रतिभा के धनी पंडित केशरी नाथ त्रिपाठी में कभी पद व कद का अहंकार नहीं पैदा हुआ। उन्होंने हर पारी में छक्का मारा। यह बातें शनिवार को राजर्षि मंडपम में आयोजित के 85वें जन्मदिन के अवसर पर देश के गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कही।

उन्होंने कहा कि वह देश के पहले ऐसे नागरिक हैं जो बीसवीं सदी में उत्तर प्रदेश के अन्तिम एवं 21वीं सदी के पहले विद्यानसभा अध्यक्ष बने। वह पश्चिम बंगाल के पहले ऐसे राज्यपाल बने हैं जो निश्कलंक हैं। त्रिपाठी का सानिध्य कई बार मुझे भी मिला। उन्होंने राजनीति की एक ऐसी परम्परा दी है, जिसका अनुसरण आगे आने वाली पीढ़ी करेगी।

इसके बाद उन्होंने मीडिया से संकेत करते हुए कहा कि यह कोई राजनीतिक मंच नहीं है और मैं यहां कुछ भी नहीं बोलूंगा। इसके साथ ही पण्डित केशरीनाथ को 125 वर्ष जीवन जीने की कामना की।

बिहार के राज्यपाल लालजी टण्डन ने कहा पंडित केशरीनाथ त्रिपाठी देश के सबसे जटिल प्रदेश के पहले ऐसे राज्यपाल हुए जो निष्कलंक है। उनके व्यक्तित्व में गंगा-यमुना जैसी संगम की धारा है। वह सामाजिक कार्यकर्ता की सेवाओं की एक परम्परा दी है।

उन्होंने कहा कि पण्डित केशरी नाथ त्रिपाठी प्रदेश के कई बार विद्यानसभा अध्यक्ष और स्पीकर के रूप में काम किया। ऐसा मौका बहुत ही कम लोगों को मिलता है। वह सदैव राजनीतिक जीवन से अलक रहकर लोगों के हर दुख दर्द में खड़े रहे। विधि के जानकार होने के साथ ही साथ एक अच्छे समाजसेवी भी हैं। जिनके व्यक्तित्व को लेकर पार्टी के ही नहीं दूसरे पार्टी के लोग भी सम्मान करते हैं।

जन्म दिवस समारोह में मंच की स्थिति पर चर्चा करते हुए प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि जिस तरह से आज मंच पर मौजूद न्यायमूर्ति गिरधर मालवीय, गृहमंत्री और दो प्रदेश के राज्यपाल एवं प्रयागराज के दो सांसद मंच पर विद्यमान है। उसी तरह से जब मैने इलाहाबाद को प्रयागराज किये जाने की मांग उठाई थी। वह पूर्ण हो गया है। आज मैं फिर यह कहना चाहता हूं कि देश में एक संविधान और एक चुनाव अतिआवश्यक है।

प्रदेश की पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि पश्चिम बंगाल के राज्यपाल पंण्डित केशरी नाथ त्रिपाठी ने जाति, धर्म, सम्प्रदाय एवं अपने राजनीतिक जीवन से हटकर समाज सेवा किया है। उन्होंने राजनीति को अपना कभी व्यवसाय नहीं बनाया। सदैव नीति एवं मानवता को अपना आदर्श बनाया।

पण्डित केशरी नाथ के 85वें जन्मदिन के अवसर पर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही, शिक्षक यज्ञदत्त शर्मा, फूलपुर के वर्तमान सपा सांसद नागेन्द्र्र सिंह पटेल, इलाहाबाद के सांसद श्यामाचरण गुप्त, पूर्व मंत्री नरेन्द्र सिंह गौड़, पूर्व शिक्षा मंत्री राकेश धर त्रिपाठी, पूर्व विधायक प्रभाशंकर पाण्डेय, हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के कई पदाधिकारी, भारतीय जनता पार्टी के हजारों कार्यकर्ता जन्मदिन पर बंधाई देने पहुंचे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper