कैंसर संस्थान का निर्माण हर हाल में 31 मार्च 2020 तक पूरा हो: मुख्य सचिव

लखनऊ ब्यूरो । मुख्य सचिव डाॅ. अनूप चन्द्र पाण्डेय ने निर्माणाधीन उच्च स्तरीय कैंसर संस्थान को 31 मार्च 2020 तक पूरा कर लेने के निर्देश दिये हैं। मुख्य सचिव ने कहा कि सीजी सिटी परियोजना में 92.84 एकड़ भूमि पर निर्माणाधीन उच्च स्तरीय कैंसर संस्थान के भवन का निर्माण निर्धारित मानक एवं गुणवत्ता के अनुरूप आगामी 31 मार्च 2020 तक प्रत्येक दशा में पूर्ण करा दिया जाये।

उन्होंने बुधवार को यहां संस्थान के निर्माणाधीन भवन के सम्बन्ध में एक बैठक में कहा कि उच्च स्तरीय कैंसर संस्थान में 500 शैय्यायुक्त अस्पताल के साथ-साथ चिकित्सकों एवं नर्सिंग स्टाफ के लिये आवासीय भवनों का निर्माण भी कराया जाये।

डाॅ. पाण्डेय ने कहा कि संस्थान में कैंसर से पीड़ित मरीजों को यथाशीघ्र आवश्यक उपचार उपलब्ध कराने के लिये सर्जरी ओ.टी. एवं इनडोर वार्ड का लोकार्पण कार्यक्रम आगामी दिसम्बर में कराये जाने के लिये आवश्यक कार्रवाई प्राथमिकता पर सुनिश्चित कराई जाये। उन्होंने कहा कि संस्थान को निर्धारित अवधि में शुरू कराने के लिये मेडिकल एवं पैरामेडिकल स्टाफ की व्यवस्था प्राथमिकता के आधार पर सुनिश्चित करायी जाये।

इस अवसर पर प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा डाॅ. रजनीश दुबे ने बताया कि लखनऊ-सुल्तानपुर रोड पर निर्माणाधीन उच्च स्तरीय कैंसर संस्थान का निर्माण कार्य नवम्बर 2015 में प्रारम्भ हुआ था। निर्धारित अवधि के अनुसार इसे नवम्बर 2017 में पूर्ण कराया जाना था लेकिन धनराशि समय से उपलब्ध न होने के कारण निर्माण कार्य में विलम्ब हुआ। उन्होंने कहा कि आगामी 31 मार्च 2020 तक कैंसर संस्थान का निर्माण कार्य पूरा करा लिया जायेगा। बैठक में सम्बन्धित विभागों तथा कार्यदायी संस्था राजकीय निर्माण निगम के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper