कोरोना काल में सेवानिवृत आईपीएस अधिकारी का नया प्रकल्प, अनुभव के पिटारे से देंगे लोगो को मुफ्त सलाह

नई दिल्ली: अपनी शानदार कार्यशैली को लेकर अलग मुकाम बनाने वाले सेवानिवृत्त आईपीएस अधिकारी डॉक्टर शैलेंद्र श्रीवास्तव अब समाज हित में एक नई पहल करने जा रहे हैं। सोशल मीडिया के माध्यम से डॉक्टर शैलेंद्र देशभर के लोगों को महिला अपराध खेल, ड्रग एब्यूज ,बाल अपराध, सड़क सुरक्षा , conflict resolution एवं crisis management जैसे विषयों पर हर रविवार नियम क़ानून एवं प्रक्रिया की सलाह देंगे ।दरअसल डॉक्टर शैलेंद्र श्रीवास्तव जिन विषयों को लेकर सलाह देने जा रहे हैं उन विषयों का उन्हें गहन अध्ययन भी है और उनसे संबधित विभागों में भी लंबे समय पदस्थ भी रहे हैं चाहे वह खेल संचालक का पद हो या फिर भोपाल और इंदौर के आईजी या परिवहन आयुक्त व अध्यक्ष हाउसिंग का।

इसके अलावा डॉ शैलेंद्र श्रीवास्तव देश के जाने-माने साइबर विशेषज्ञों में से एक माने जाते हैं। अपने जीवन की उपलब्धियों और अनुभवों के माध्यम से डॉक्टर शैलेंद्र समाज के उस तबके की सेवा करना चाहते हैं जो उचित नियम एवं प्रक्रिया की कानूनी सलाह के अभाव में न्याय के लिए भटकता ही रह जाता है और अन्तत न्याय से वंचित रह जाता है ।डॉक्टर शैलेंद्र श्रीवास्तव का मानना है कि सुलभ न्याय हर व्यक्ति का अधिकार है और उसे दिलाने के लिए प्रयास करना समाज के उस हर व्यक्ति का कर्तव्य है जो ऐसा कर सकता है सोशल मीडिया पर कानूनी सलाह देने की कल्पना भी इसी भाव की उपज है ।डॉक्टर शैलेंद्र श्रीवास्तव हर रविवार को 1 घंटे दोपहर 12:00 बजे से 1:00 बजे तक फेसबुक लाइव के माध्यम से लोगों को सलाह देंगे एवं नियम क़ानून तथा प्रक्रिया बताएँगे ।

इसके लिए डॉक्टर शैलेंद्र श्रीवास्तव ने फेसबुक पर ask shailendra shrivastva 1986 ips retd. के नाम से एक फेसबुक पेज भी बनाया है। 19 जुलाई 2020 रविवार से डॉक्टर शैलेंद्र श्रीवास्तव के इस अनूठे अभियान की फ़ेस बुक लाइव की शुरुआत होने जा रही है। डॉ श्रीवास्तव से ऑनलाइन कानूनी सहायता पाने के लिए लोग उनके इस फेसबुक पेज Ask Shailendra Srivastava 1986 ips retd.से जुड़ सकते हैं और पेज को लाइक कर उसे पसंद भी कर सकते हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper