कोरोना के चलते टीकाकरण, परिवार नियोजन, कैंसर जैसी स्वास्थ्य सेवाएं प्रभावित हुईं: डब्ल्यूएचओ

जिनेवा: संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ्य एजेंसी ने एक नये सर्वेक्षण के हवाले से कहा है कि सर्वेक्षण में शामिल 90 फीसदी देशों में कोविड-19 महामारी के चलते टीकाकरण, परिवार नियोजन सेवाओं, कैंसर एवं हृदय रोग जांच एवं उपचार जैसी अन्य स्वास्थ्य सेवाएं प्रभावित हुईं हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) का कहना है कि इस सर्वेक्षण में 105 देश शामिल हुए और उसका लक्ष्य खासकर निम्न एवं मध्यम आय वाले देशों में पहले से ही दबाव में गुजर रही स्वास्थ्य प्रणाली पर कोरोना वायरस के असर का मूल्यांकन करना था।

डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक टेड्रोस एधनोम घेब्रेयेसस ने कहा कि मार्च और जून के बीच पांच क्षेत्रों में कराये गये सर्वेक्षण ने ‘हमारी स्वास्थ्य प्रणाली में खामियों और कोविड-19 महामारी जैसी जैसी स्वास्थ्य आपात स्थिति के लिए बेहतर तैयारी की जरूरत को सामने ला दिया। डब्ल्यूएचओ के अनुसार इस महामारी के चलते 2.5 करोड़ से ज्यादा लोग संक्रमित हुए और 8,43,000 लोगों की जान गयी।

सर्वेक्षण में सामने आया कि कोविड-19 महामारी से टीकाकरण और अन्य संपर्क सेवाएं बुरी तरह प्रभावित हुईं तथा 70 फीसद देशों ने बाधा पहुंचने की बात मानी। उसके बाद हृदयरोग और कैंसर जैसे गैर संक्रामक रोगों की जांच और उपचार पर भी इस महामारी का बुरा असर पड़ा। करीब एक चौथाई देशों ने कहा कि आपात सेवाएं अवरुद्ध हुईं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper