कोरोना के बढ़ते संक्रमण पर लगाम लगाने के लिए अब देशभर में ‘दिल्ली मॉडल’ को लागू करने की तैयारी

नई दिल्ली: कोरोना के प्रकोप से लगभग हर देश जूझ रहा है। भारत में भी मरीजों का आंकड़ा दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है। देश में बढ़ते संक्रमण के बीच सोमवार को केंद्र सरकार राज्यों के साथ एक बैठक करने जा रही है, जिसमें COVID-19 से बचाव के लिए ‘दिल्ली मॉडल’ को अपनाने के लिए कहा जा सकता है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि बैठक की अध्यक्षता केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला करेंगे। यह बताया जा रहा है कि इस उच्चस्तरीय बैठक में दिल्ली में कोरोना के खिलाफ उठाए गए कदमों को अपनाने के लिए अन्य राज्यों के लिए भी प्लानिंग की जाएगी। इसके साथ ही आने वाले दिनों में दिल्ली में कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए रणनीति पर भी चर्चा होगी।

कोरोना: भारत में 2 लाख 80 हज़ार के करीब …
खबर के मुताबिक दिल्ली के मुख्य सचिव विजय देव केंद्र के वरीय अधिकारियों के समक्ष राजधानी दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों पर लगाम लगाने के लिए किए गए प्रयासों पर विचार विमर्श करेंगे। इस बैठक में केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण और नीति आयोग के सदस्य डॉ. वीके पॉल भी शामिल रहेंगे।

एक चैनल में प्रकाशित खबर के मुताबिक एक इंटरव्यू के दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि ‘दिल्ली मॉडल’ परीक्षण, होम आइसोलेशन, पारदर्शी डेटा, अस्पतालों में बेड और प्लाज्मा थेरेपी पर आधारित था। लेकिन इन पांच चीजों को प्राप्त करने के लिए, हमने तीन सिद्धांतों का पालन किया। पहला टीम वर्क, दूसरा रचनात्मक आलोचना को स्वीकार करना और जो गलत है, उसे ठीक करना और तीसरा, चाहे कितनी भी बुरी स्थिति क्यों न हो, एक सरकार के रूप में हथियार नहीं डालना।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper