कोरोना को लेकर पश्चिम बंगाल में राजनीति शुरू, ममता-गवर्नर आमने-सामने

कोलकाता: कोरोना का संकट पूरे देश को परेशान किए है, मगर पश्चिम बंगाल में इस पर भी राजनीति शुरू हो गई है। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने राज्य में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस सरकार पर एक बड़ा आरोप लगाया है। धनखड़ ने कहा कि राज्य सरकार निगेटिव सोच के साथ काम कर रही है और कोरोना वायरस की गंभीरता को समझ नहीं रही है।

धनखड़ ने आरोप लगाया कि राज्य सरकार केंद्र की ओर से दी गईं टेस्टिंग किट्स का सही तरह से उपयोग नहीं कर रही है और उनकी संख्या के बारे में भी लोगों को गुमराह कर रही है। इस पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राजभवन को सलाह दी कि इस संकट के समय वह राजनीति से दूर रहे।

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘हमें अर्धसैनिक बलों की क्यों जरूरत है? कई ऐसे मामले आए हैं, जब सैन्य बल के जवान स्वयं कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। कुछ लोग परेशानी में राजनीतिक लाभ उठाना चाहते हैं। मैं सभी का आह्वान करूंगी कि यह राजनीति का समय नहीं है। यह संकट का समय है।

ममता ने लगाए केंद्र सरकार पर आरोप

इस मुद्दे पर तृणमूल कांग्रेस पार्टी ने बड़े ही स्पष्ट तरीके से राज्यपाल के आरोपों का खंडन करते हुए उन्हें आधारहीन बताया है। तृणमूल कांग्रेस के बड़े नेताओं ने केंद्र सरकार पर बिना तैयारी के लॉकडाउन की घोषणा करने का आरोप लगाया। तृणमूल कांग्रेस का आरोप है कि सरकार ने अन्य राज्यों में फंसे हुए बंगाल के प्रवासी मजदूरों के लिए पर्याप्त काम नहीं किया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper