कोरोना को 80 साल के बुजुर्ग ने आठवीं बार में हराया

गोरखपुर: देवरिया के रहने वाले दूधनाथ उम्र 80 साल है। शरीर में सोडियम-पोटैशियम कम था। लंबे समय से डायबिटीज के मरीज भी हैं। इसके बावजूद उन्होंने एक महीने की जंग के बाद कोरोना वायरस को हरा दिया। सोमवार को उन्हें बीआरडी से डिस्चार्ज कर दिया गया।

सेना से रिटायर दूधनाथ को बीते 27 मई को निढाल हालत में परिजन बीआरडी पहुंचे थे। उनके शरीर में सोडियम और पोटैशियम कम हो गया था। जिससे उनके सोचने समझने की शक्ति खत्म हो गई थी। शरीर निढाल हो गया था। डायबिटीज असंतुलित था। मेडिसिन विभाग में डॉक्टरों ने उन्हें फौरन आईसीयू में एडमिट कर लिया। उनका इलाज शुरू हुआ।

13 जून को डॉक्टरों को उनमें सांस की तकलीफ के लक्षण दिखे। इसी दरमयान मेडिसिन वार्ड में भर्ती दो मरीजों में कोरोना की तस्दीक हुई थी। एहतियातन डॉक्टरों ने इनकी कोरोना जांच कराई। जांच में पॉजिटिव निकले। आनन-फानन में इनको मेडिसिन आईसीयू से कोरोना वार्ड के आईसीयू में शिफ्ट किया गया।

सात बार पॉजिटिव आई रिपोर्ट
दूधनाथ की उम्र अधिक होने और डायबिटिक होने के बावजूद इनमें कोरोनासे लड़ने की जिजीविषा जबरदस्त मिली है। बीआरडी मेडिकल कॉलेज के मेडिसिन विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर और कोरोना वार्ड के नोडल इंचार्ज डॉ.राजकिशोर सिंह ने बताया कि इनमे सांस फूलने और बुखार जैसे सामान्य लक्षण थे। इसके बावजूद शरीर में कोरोना वायरस का वायरल लोड बहुत ज्यादा था। कोविड में भर्ती होने के बाद सात बार इनकी कोरोना जांच कराई गई। हर बार रिपोर्ट पॉजिटिव रही।

आलम यह रहा कि संक्रमित में लक्षण खत्म होने के बाद भी पांच बार रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। शरीर में वायरल लोड खत्म नहीं हो रहा था। इस वजह से इनको डिस्चार्ज नहीं किया जा रहा था। सोमवार की सुबह की रिपोर्ट में इनकी रिपोर्ट नेगेटिव आई। जिसके बाद सभी ने राहत की सांस ली। दोपहर बाद इनको विधिवत तरीके से अस्पताल प्रशासन ने डिस्चार्ज किया। इस दौरान इनका तालियां बजाकर विदा किया गया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper