कोरोना वायरस: महाराष्ट्र के अमरावती में एक हफ्ते का लॉकडाउन

नई दिल्ली: महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में तेजी आने के बाद लॉकडाउन भी लौट आया है। राज्य सरकार ने अमरावती जिले में एक हफ्ते के लॉकडाउन का ऐलान किया है। वहीं कई दूसरे जिलों में भी सख्ती बढ़ा दी गई है। महाराष्ट्र सरकार में मंत्री यशोमति ठाकुर ने रविवार को बताया है कि अमरावती जिले में कल यानी 22 फरवरी रात आठ बजे से एक हफ्ते का लॉकडाउन रहेगा।

इस दौरान आवाजाही की इजाजत नहीं होगी सिर्फ आवश्यक सेवाएं ही जारी रहेंगी। हालांकि अचलपुर को लॉकडाउन से छूट दी गई है। अचलपुर में बंदी नहीं होगी। महाराष्ट्र में कोरोना वायरस का संक्रमण एक बार फिर तेजी से फैल रहा है। बीते दस दिन से राज्य में नए मामले लगातार बढ़ रहे हैं। राज्य में एक दिन में नए मामले अब छह हजार से ऊपर चले गए हैं।

राजधानी मुंबई के अलावा अमरावती, यवतमाल रत्नागिरी, बीड, सिंधुदुर्ग, रायगढ़ में संक्रमण तेजी से फैल रहा है। इसी को देखते हुए अमवराती में पहले आज यानी रविवार के लॉकडाउन का ऐलान किया गया था। अब एक हफ्ते के लॉकडाउन का फैसला राज्य सरकार ने किया है। दूसरे शहरों में भी सख्ती बढ़ी है। राजधानी मुंबई में बीएमसी ने फिर से कोरोना की गाइडलाइन जारी की है। राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने ये भी कहा है कि अगर केस बढ़े और लोगों में लापरवाही दिखी तो वो पूरे राज्य में लॉकडाउन लगा देंगे।

मुंबई में भीड़ इकट्ठा करने पर कार्रवाई भी की जा रही कोरोना गाइडलाइन का पालन ना करने को लेकर मुंबई में कार्रवाई भी हो रही है। शनिवार रात को बीएमसी की टीम ने बांद्रा में एक रेस्टोरेंट पर छापेमारी की तो वहां 200 लोग जमा थे और पार्टी कर रहे थे। जिसके बाद टीम ने रेस्टोरेंट मालिक पर मामला दर्ज किया है। कई दूसरी जगहों पर भी भीड़ इकट्ठा करने पर कार्रवाई की गई है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper