कोरोना संकट में दुनिया ने भारत की योग की ताकत को महसूस किया: मुख्यमंत्री

लखनऊ। योग हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाता है। आज कोरोना संकट में दुनिया ने भारत की योग की ताकत को महसूस किया है। यह भारत की आध्यात्मिक परम्परा का वाहक है, जिसने दुनिया के अंदर भारत की सांस्कृतिक विरासत को चेतना के उच्चतर सोपान तक पहुंचाया है। भारत की ऋषि परंपरा ने अतीत में क्या योगदान किया है, उसका एक माध्यम योग है। इसके जरिए दुनिया और भारत के बीच आत्मीय संवाद बना है, जिसका श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जाता है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश कार्यालय से वर्चुअल जनसंवाद रैली को सम्बोधित किया। इस रैली के माध्यम से उन्होंने पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लोगों से संवाद किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है। जितनी स्वतंत्रता भारत के अंदर है, उनती दुनिया में कहीं भी नहीं है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी की दूरदर्शिता और त्वरित निर्णय लेने की क्षमता ने भारत को कोरोना संकट से बचाया है। ये पूरी दुनिया के सामने एक उदाहरण है।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि भारत और अमेरिका में कोरोना का संक्रमण एक साथ फैला था। दोनों देशों की तुलना यदि आबादी के लिहाज की जाए तो, आप देखेंगे कि इस संक्रमण से भारत में अब तक 12 हजार मौतें हुई हैं, वहीं अमेरिका में 1 लाख 20 हजार लोगों की जान जा चुकी है। उन्होंने कहा कि आज दुनिया में कोरोना संकट के दौरान बड़े-बड़े उपद्रव हो रहे हैं, लोग सड़कों पर उतर रहे हैं, सरकार की नीतियों की खिलाफत कर रहे हैं, वहीं भारत की 135 करोड़ की जनता पूरे सम्मान और श्रद्धा के साथ प्रधानमंत्री मोदी के साथ खड़ी है।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में जो कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं, उनका परिणाम है कि काफी हद तक कोरोना को नियंत्रित करने में हम सफल हुए। केंद्र और प्रदेश सरकार ने गरीब और कल्याणकारी योजनाओं को मजबूती के साथ आगे बढ़ाया। प्रदेश के 2 करोड़ 4 लाख किसानों को डीबीटी की माध्यम से 2 हजार रुपये प्रतिमाह 3 महीने तक दिए गए। जनधन खाते वाली महिलाओं के खाते में 500 रुपये प्रतिमाह देने का कार्य किया गया।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि अनलॉक की कार्यवाही के बाद हम लोग प्रदेश में लगभग 90 लाख लोगों को रोजगार के साथ जोड़ चुके हैं। प्रधानमंत्री मोदी द्वारा गरीब कल्याण रोजगार अभियान प्रारंभ किया गया है, इसके तहत 1 करोड़ 25 लाख लोग एक साथ प्रदेश में सेवायोजन, रोजगार और स्वरोज़गार प्राप्त करने की स्थिति में रहेंगे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper