कोरोना संकट: हवाई उड़ानों की बुकिंग पर 3 मई के बाद ही लिया जाएगा फैसला

नई दिल्ली: कोरोना संकट के चलते देश में जारी लॉकडाउन के बीच कुछ विमानन कंपनियों ने फ्लाइट की बुकिंग शुरु करने पर केंद्रीय नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने ट्वीट करते हुए कहा कि चूंकि कुछ एयरलाइनों ने हमारी सलाह और खुली बुकिंग को ध्यान में नहीं रखा और यात्रियों से पैसे वसूलने शुरू किए, इसलिए 19 अप्रैल को उन्हें ऐसा करने से रोकने के लिए एक निर्देश जारी किया गया।

उन्हें यह भी बताया गया कि बुकिंग शुरू करने के लिए उन्हें पर्याप्त सूचना और समय दिया जाएगा। इसके बाद एक और ट्वीट करते हुए उन्होंने कहा कि उड़ान को फिर से शुरू करने पर हमारे विचार और दृष्टिकोण स्पष्ट रूप से साफ किया गया है। अंतरराष्ट्रीय और घरेलू उड़ानों को फिर से शुरु करने का फैसला 3 मई के बाद लिया जाएगा।

पुरी ने कहा कि 2 अप्रैल को, मैंने कहा था कि लॉकडाउन इस अवधि के बाद उड़ानों को फिर से शुरू करने का निर्णय लिया जाना है और 5 तारीख को इसे दोहराया गया। 14 अप्रैल को जब लॉकडाउन विस्तारित हुआ, मैंने कहा कि लॉकडाउन के बाद हम प्रतिबंधों को खत्म करने पर फिलहाल रोक लगा सकते हैं।

जानकारी के लिए बता दें कि देश में बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों को देखते हुए केंद्र सरकार ने फिलहाल लॉकडाउन की अवधि को 3 मई तक के लिए बढ़ा दिया है। गौरतलब है कि फिलहाल देश में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या 16 हजार के पार पहुंच गई हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper