कोविड से बचाव और इलाज के इंतजामों के लिए योगी सरकार ने दी 443 करोड़ की स्वीकृत

लखनऊ: कोविड-19 की दूसरी लहर से बचाव और रोकथाम के लिए कई प्रस्तावों को स्वीकृति देते हुए प्रदेश सरकार ने 443.50 करोड़ रुपये के प्रस्तावों को मंजूरी दे दी है। इसी धनराशि में सभी 75 जिलों में आक्सीजन सिलेंडर, कोविड टेस्टिंग किट, मेडिकल होम किट, अस्थाई आश्रय स्थल, आक्सीजन प्लांट की स्थापना आदि के कार्यों के लिए 225 करोड़ रुपये दिए गए हैं।

मुख्य सचिव आरके तिवारी की अध्यक्षता में शुक्रवार को हुई आपदा प्रबंधन के लिए गठित राज्य कार्यकारिणी समिति की बैठक में ये फैसले किए गए हैं। इसके तहत जिलों में क्वारंटीन सेंटर चलाने के लिए 7.72 करोड़ रुपये के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी गई। सीएसआईआर, एनबीआरआई, सीडीआरआई, बीरबल साहनी इंस्टीट्यूट ऑफ पैलियोवाटनी लखनऊ को इलाज के लिए जरूरी खरीद तथा दवाओं के लिए एक-एक करोड़ रुपये के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी गई।

225 करोड़ रुपये इन मदों में खर्च किए जाएंगे
सभी 75 जिलों में मेडिकल कन्जयूमेबिल्स जैसे पीपीई किट, एन-95 मास्क, आक्सीजन सिलेंडर, कोविड टेस्टिंग किट की खरीद, मेडिकल होम किट आइसोलेशन के मरीजों को पहुंचाने सर्विलांस, स्क्रीनिंग, आपरेशन तथा कान्ट्रैक्ट ट्रेसिंग में वाहन किराये पर लेना, अस्थाई आश्रय स्थल, क्वारंटीन कैम्प/स्क्रीनिंग कैम्प का संचालन, कंटेनमेंट आपरेशन, सर्विलांस व डाटा इंट्री के लिए मान्य सेवा, आक्सीजन प्लांट की स्थापना, आक्सीजन की व्यवस्था के लिए अवस्थापना कार्य, नई पाईप लाइन बिछाना तथा एक्सटेंशन कार्य पर 225 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे।

पुलिस के लिए 45 करोड़ रुपये
बैठक में पुलिस कर्मियों के प्रयोग के लिए पीपीई किट व अन्य आवश्यकताओं की पूर्ति पर 45 करोड़ रुपये खर्च करने के प्रस्ताव को मंजूर किया गया। झारखंड, पश्चिम बंगाल तथा अन्य प्रदेशों से ट्रेन से प्रदेश में आने वाले आक्सीजन टैंकर के लिए रेलवे को अग्रिम किराया भुगतान के लिए 20 करोड़ रुपये के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई।

कोविड अस्पतालों व लैबों के लिए 79.88 करोड़
प्रमुख सचिव चिकित्सा स्वास्थ्य को 24 राजकीय / स्वाशासी मेडिकल कालेजों को कोविड अस्पतालों तथा लैबों की स्थापना के लिए 79.88 करोड़ रुपये के प्रस्ताव को स्वीकृति दी गई। कोविड-19 वायरस के प्रकोप से निपटने के लिए आक्सीजन की आपूर्ति के लिए प्रबंध निदेशक, यूपीसीडा लखनऊ को भुगतान किए जाने के लिए 1.90 करोड़ रुपये के प्रस्ताव को स्वीकृति दी गई। प्रमुख सचिव, चिकित्सा स्वास्थ्य अनुभाग-2 के निर्वतन पर कोविड-19 की जांच के लिए आरटीपीसीआर किट एवं आरएनए इक्सट्रैक्शन किट क्रय किए जाने व केजीएमयू को भुगतान के लिए 50 करोड़ रुपये के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई। अपर मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग को 855 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों के लिए प्रति केन्द्र 20 आक्सीजन कान्सट्रैटर की दर से कुल 17,100 आक्सीजन कान्सट्रैटर स्वीकृत करते हुए प्रबंध निदेशक उत्तर प्रदेश मेडिकल सप्लाई कारपोरेशन को अग्रिम भुगतान के लिए 10 करोड़ रुपये के प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान की गई।

दस जिलों में पीएसए आक्सीजन प्लांट लगाने की मंजूरी
प्रदेश के 10 जनपदों बाराबंकी, उन्नाव, एटा, फिरोजाबाद (शिकोहाबाद), हमीरपुर, कानपुर देहात, शामली, सम्भल, श्रावस्ती, हाथरस के जिला चिकित्सालयों में 500 लीटर प्रति मिनट का पीएसए आक्सीजन प्लांट लगाने की मंजूरी दी गई। प्रदेश के 50 महिला चिकित्सालयों में 20 कन्संट्रेटर प्रति चिकित्सालय की दर से 1040 आक्सीजन कन्संट्रेटर तथा चिकित्सा शिक्षा विभाग को 2000 आक्सीजन कन्संट्रेटर खरीद की स्वीकृति दी गई।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper