कौन हैं पबुभा माणेक, जिन्होंने कथावाचक मोरारी बापू को मारने की कोशिश की

द्वारका: गुजरात में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के पूर्व विधायक पबुभा माणेक ने कथावाचक मोरारी बापू को मारने की कोशिश की। कहा जा रहा है कि हमले की कोशिश मोरारी बापू की श्रीकृष्ण के भाई बलराम पर की गई टिप्पणी के चलते की गई। हालांकि, पबुभा माणेक ने कहा है कि उनका हमला करने का कोई इरादा नहीं था। आइए जानते हैं कौन हैं बीजेपी नेता पबुभा माणेक:-

पबुभा माणेक गुजरात के द्वारका जिले के रहने वाले हैं। वह द्वारका सीट से ही बीजेपी के टिकट पर विधायक चुने गए थे। 2017 में उनके चुनाव को कांग्रेस उम्मीदवार ने गलत जानकारी देने के कारण हाई कोर्ट में चुनौती दी और अदालत ने पबुभा माणेक की विधायकी खारिज कर दी। एक दिन पहले ही सुप्रीम कोर्ट ने भी पबुभा माणेक की विधायकी रद्द करने वाले आदेश को बरकरार रखा।

लगातार सात बार विधायक चुने गए पबुभा माणेक
द्वारका-82 सीट पर पबुभा माणेक सात बार विधायक रह चुके हैं। साल 1990 में बीजेपी के साथ राजनीति की शुरुआत करने वाले पबुभा माणेक कद्दावर नेताओं में गिने जाते हैं। वह लगातार सात बार विधानसभा चुनाव लड़कर जीते हैं और हर बार उनकी जीत का अंतर काफी बड़ा रहा है। द्वारका जिले में वह एक तरह के बाहुबली नेता माने जाते हैं।

क्या है विवाद?
हाल ही में कथित तौर पर मोरारी बापू ने भगवान श्रीकृष्ण के भाई बलराम को शराबी कहा था। कथा के इस अंश का वीडियो जब वायरल हुआ तो इसपर उनका जमकर विरोध हुआ था। बाद में मोरारी बापू ने एक वीडियो जारी करके माफी भी मांगी थी। इसी के विरोध स्वरूप बीजेपी के पूर्व विधायक पबुभा माणेक उस वक्त मोरारी बापू पर हमला करने पहुंच गए, जब वह बीजेपी नेताओं से मुलाकात कर रहे थे। मोरारी बापू के पास में ही बीजेपी सांसद पूनम माडम बैठी थीं। हालांकि, पबुभा माणके मोरारी बापू तक पहुंचते इससे पहले ही उन्हें एक शख्स ने रोक लिया।

NBT से साभार

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper